आज 9 घंटे के लिए जबलपुर आ रहे हैं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह / आज 9 घंटे के लिए जबलपुर आ रहे हैं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह - Bhaskar Crime

Breaking

आज 9 घंटे के लिए जबलपुर आ रहे हैं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह / आज 9 घंटे के लिए जबलपुर आ रहे हैं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह

Image result for amit shah

 जबलपुर - भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह थोड़ी देर बाद जबलपुर पहुंच गए हैं। विशेष विमान से डमुना एयरप्रोर्ट पर ही कार्यक्रर्ताओं से मुलाकात की। इसके बाद अमित शाह भेड़ाघाट के लिए रवाना हो गए। वे प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के साथ प्रदेश के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे। इस दौरान बैठक में गिन-चुने 22 नेता ही मौजूद रहेंगे।
महाकौशल-विन्ध्य और बुंदेलखंड की 93 सीटों पर फोकस
- बुंदेलखंड, महाकोशल और विंध्य के चार संभागों के 93 विधानसभा क्षेत्रों पर भाजपा की नजर है। पिछले चुनाव में यहां की 63 सीट भाजपा के खाते में आई थीं पर इस बार करीब आधी से ज्यादा सीटों पर मौजूदा विधायकों के प्रति नाराजगी है।
- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मंदसौर दौरे के ठीक बाद में शाह का जबलपुर आ रहे हैं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि शाह मंगलवार को राहुल द्वारा किसानों की कर्जमाफी की घोषणा का जवाब भी दे सकते हैं।
आईटी सेल पर फोकस

- पार्टी सूत्रों का कहना है कि लोकसभा और विधानसभा के लिए बनी चुनाव प्रबंधन कमेटी की एक साथ बैठक करके शाह आने वाले कार्यक्रमों के रोडमैप को मंजूरी दे देंगे।
- यहां होने वाली पहली बैठक में पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन, राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गेहलोत, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह मौजूद रहेंगे।
- शाह की दूसरी बैठक आईटी सेल के ढाई सौ कार्यकर्ताओं के साथ होगी, जिसमें चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के एजेंडे पर चर्चा की जाएगी। दिल्ली से आई आईटी एक्सपर्ट की टीम कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण भी देगी। बैठक में आईटी सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित मालवीय भी मौजूद रहेंगे।
कैसी तैयारी चाहते हैं शाह
- शाह चाहते हैं कि दोनों चुनावों की तैयारी एक साथ की जाए। इसके पीछे बड़ी वजह यह है कि नवंबर-दिसंबर में मप्र समेत चार राज्यों के विधानसभा चुनावों को लेकर पार्टी के भीतर यह चर्चा हो रही है कि लोकसभा चुनाव के साथ इन राज्यों के भी चुनाव कराए जाएं।
- इस पर सहमति बन जाती है तो चुनावी तैयारी उसी हिसाब से होगी। इसीलिए पहले से कमेटियों को बनाकर भाजपा उनको सक्रिय करने की तैयारी में है।
- बहरहाल, अमित शाह चुनाव प्रबंधन कमेटियों से चर्चा करने के साथ-साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत से किसान आंदोलन का फीडबैक भी लेंगे।
- अमित शाह के दौरे के कारण मंगलवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक को टाल दिया गया है। यह अब 15 जून को होगी।
संपर्क फॉर समर्थन भी करेंगे

- संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत अमित शाह जबलपुर में दो प्रबुद्ध लोगों के घर जाएंगे। इसके अलावा वे कुछ प्रमुख कार्यकर्ताओं से भी मिलेंगे।
- इस अभियान को लेकर शाह गंभीर हैं, इसलिए वे प्रदेश नेतृत्व से भी पूछेंगे कि एक लाख परिवारों से संपर्क के लक्ष्य में कितनी पूर्ति हुई।