मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के तिलहरी में रहने वाले सैंकड़ों परिवारों के हजारों लोगों के साथ हो रहे अन्याय - Bhaskar Crime

Breaking

मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के तिलहरी में रहने वाले सैंकड़ों परिवारों के हजारों लोगों के साथ हो रहे अन्याय

विज्ञप्ति
                                                                                    विज्ञप्ति
प्रति,
संपादक महोदय जी
प्रकाशनार्थ हेतु सादर प्रेषित।
मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के तिलहरी में रहने वाले सैंकड़ों परिवारों के हजारों लोगों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ पीड़ितों को न्याय दिलाने हेतु ७ सूत्रीय मांगों के एक सप्ताह के भीतर निराकरण हेतु ज्ञापन |
1. तिलहरी में 250 से अधिक विस्थापितों को आज एक साल बाद भी पट्टा और प्रधानमन्त्री आवास योजना का पैसा नहीं प्रदान किया गया, आखिर क्यों ?
2. तिलहरी में आज भी लोगों को पहले से आवंटित पट्टों के बावजूद पैसा रोका गया है,आखिर क्यों ?
3. बच्चों को स्कूल और बीमार को अस्पताल की व्यवस्था आज तक क्यों नहीं कराई गयी है ?
4. दर्जनों से अधिक लोगों की मौत आज तक हुई पर दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही क्यों नही की गयी ?
5. राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग द्वारा निर्देशित किये जाने के बावजूद भी आज दिनाक तक विस्थापित परिवारों को व्यवस्थित नहीं किया गया ,आखिर क्यों?
6. 1 साल से बिना पट्टे और पैसे के बिना आज भी फटी पन्नियों में रहने को मजबूर हैं सैंकड़ों परिवार पर आज तक कोई निराकरण नहीं किया गया आखिर क्यों?
7. न सड़क ,न बिजली, न स्वास्थ्य व्यवस्था ,न पुलिस की व्यवस्था ,न शौंचालय ,न स्वच्क्ष पानी,फिर भी जानवरों के हालात में जीने को मजबूर हैं तिलहरी में विस्थापित आखिर क्यों?
महोदय जी,
 अखिल भारतीय इंजीनियरिंग छात्र संगठन ईएसओ इंडिया, आग्रह करता है  की मध्यप्रदेश के ह्रदयस्थल जबलपुर जिले में पहाड़ी क्षेत्रों में विगत 50 से भी अधिक वर्षों से निवासरत हजारों लोगों के मकान तोड़े जाने के आदेश माननीय उच्च न्यायालय द्वारा एक याचिका की सुनवाई के दौरान दिये गये हैं ,यह आदेश एक तरह से बेहद प्रशंसनीय है परन्तु इन हजारों परिवारों को तोड़ने से पूर्व शासन एवं प्रशासन ने कोई भी पुख्ता इंतजाम इन पीड़ित परिवारों के लिए नहीं किये गये हैं ये सभी परिवार पट्टे के आधार पर एवं नगर निगम जबलपुर में भूमिकर ,मकान का टेक्स ,जल कर इत्यादि नियमानुसार सालों से अदा करके अपना जीवन खुशहाल तरह से यापन कर रहे थे परन्तु माननीय न्यायालय के आदेश के पश्चात निगम प्रशासन एवं जिला प्रशासन ने इन लाखों लोगों के साथ जो अमानवीय कृत्य किया है वो बेहद दुखद और निंदनीय है ,हजारों मकान पहले भी तोड़े जा चुके हैं जिनकी वर्तमान स्थिति इतनी दर्दनाक है की विस्थापित जनता के बीच उनके हालात देखे नहीं जा सकते 15 से अधिक लोगों की जान भी प्रशासन की लापरवाही के चलते अब तक जा चुकी है और लगातार लोग विभिन्न प्रकार की बिमारियों से जूझ रहे हैं आये दिन कोई न कोई घटना इस जगह पर घटित हो रही है , हजारों बच्चे अपनी पढाई छोड़ कर घर पर बैठने को मजबूर हैं, गरीब परिवार फटी हुई पन्नी में अपना जीवन यापन करने को मजबूर हैं, बच्चे बीमार पड़  रहे हैं , बुजुर्ग अपना इलाज नहीं करा पा रहे है, पीने के लिए साफ़ पानी भी नसीब नहीं हो रहा है, आपातकाल जैसे हालात जबलपुर में निर्मित हो चुके हैं , एक साल पूर्व में जबलपुर की त्रिपुरी वार्ड के 10 हजार से अधिक विस्थापितों को तिलहरी में स्थापित किया गया जहाँ उन्हें खुले आसमान के नीचे भीषण गर्मी में और अब भीषण बरसात के बीच मरने के लिए छोड़ दिया गया है, बहुत बार आन्दोलन किये प्रदर्शन किये पर कोई निराकरण नहीं हुआ, कई मासूम बच्चे सांप के काटने, लू लगने जैसी कई बीमारियों की वजह से अपनी जान गँवा चुके हैं और यह सिलसिला लगातार जारी है |इस विस्थापन प्रक्रिया में हजारो परिवार और लाखों लोगों,बच्चों और बुजुर्गों के जीवन पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है विगत 8 माह पूर्व हजारों परिवारों का विस्थापन किया गया जिसके बाद दर्जनों लोगों की जान गयी कई बीमार हैं आज भी लोग फटी पन्नियों में पूरे परिवार के साथ जीवन यापन कर रहे हैं
आग्रह है की इस मामले की गंभीरता को समझते हुए लाखों लोगों की जिन्दगी पर लगे सवालिया चिन्ह और मानवता के आधार पर आप संज्ञान लेकर कार्यवाही करने का कष्ट करें एवं इन परिवारों को न्याय दिलाने में सहयोग प्रदान करें |यदि ७ दिनों के भीतर कार्यवाही नहीं की गयी तो ईएसओ इंडिया पीड़ित परिवारों के साथ मिलकर प्रदेशव्यापी आन्दोलन करने बाध्य होगा जिसकी जवाबदारी जिला प्रशासन की होगी |
 आज कलेक्ट्रेट घेराव के दौरान प्रमुख रूप से ईएसओ के राष्ट्रीय महासचिव सतीश कोरी ,राजकुमार चक्रवर्ती, विपिन दत्ता ,साहिल सिंह राजपूत ,सोनू विश्वकर्मा, पंकज पटेल, उषा कोरी, सुनीता अहिरवार ,राकेश चक्रवर्ती ,मुन्ना चक्रवर्ती, दीपा ठाकुर, समेत सैकड़ों विस्थापित एवं संगठन के पदाधिकारी मौजूद रहेl
धन्यवाद
स्थान:- जबलपुर
दिनांक:- 17/01/2020
भवदीय
प्रवीण सिंह
राष्ट्रीय अध्यक्ष
अखिल भारतीय इंजीनियरिंग छात्र संगठन
प्रदेश कार्यसमिति सदस्य
भारतीय जनता पार्टी
अनुसूचित जाति मोर्चा मध्य प्रदेश