70 हजार अवैध शराब की तस्करी पकड़ी, मालिक जांच में है - Bhaskar Crime

Breaking

70 हजार अवैध शराब की तस्करी पकड़ी, मालिक जांच में है

जबलपुर अवैध हथियार और मादक पदार्थ के नाम से जाना जाता है लेकिन कुछ दिन पहले शहर में शराब की तस्करी बढ़ती जा रही है 

जबलपुर में सिंडीकेट बनाकर शराब बेच रहे हैं दूसरी ओर अवैध शराब आधी रात को शहर के कई इलाकों में बेची जा रही , 
शराब ले जाने वाली तो पकड़ जाते हैं लेकिन असली तस्कर जो मालिक शराब का कारोबार करते हैं आज तक पुलिस उनके नाम तक नहीं पहुंच पाई क्योंकि शराब माफिया की ऊपर तक पहुंच है
अवैध शराब की तस्करी मे लिप्त 2 आरोपी गिरफ्तार, 
 58 बाॅटल एवं 91 पाव 

अंग्रेजी शराब कीमती 70 हजार रुपए की तथा ओमनी वैन जप्त

पलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा  (भा.पु.से.) द्वारा  अवैध मादक पदार्थ एवं शराब तथा अवैध हथियार, के कारोबार में लिप्त आरोपियों को चिन्हित करते हुये प्रभावी कार्यवाही हेतु आदेशित किया गया है।*
              थाना प्रभारी अधारताल श्री शैलेष मिश्रा ने बताया कि आज दिनांक 22-07-2020 को रात्रि में गश्त के दौरान विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि एक सफेद रंग की ओमनी वेन क्रमांक एमपी 20 एच ए 0767 में पनागर से अधारताल तरफ अधिक मात्रा में शराब लायी जा रही है, सूचना पर इमलिया रोड दुर्गा मंदिर के सामने नाकाबंदी की गयी प्रातः लगभग 4 बजे पनागर तरफ से आ रही ओमनी क्रमांक एमपी 20 एच ए 0767 को रोका गया नाम पता पूछने पर चालक ने अपना नाम बंशी केारी उम्र 32 वर्ष निवासी  कटरा एवं ओमनी मे सवार एक अन्य व्यक्ति ने अपना नाम अमित जोशी उम्र 30 वर्ष निवासी अरविंद डेरी के पास सेक्टर 2 अम्बेडकर कालोनी के रहने वाले बताये, जिन्हें सूचना से अवगत कराते हुये तलाशी लेने पर वेन के अंदर सफेद रंग की 5 बोरियेां  में से एक बोरी मे 24 बाटल रायल स्टैग क्लासिक विस्की, दूसरी बोरी में मेकडावल नम्बर 1 विस्की की 22 बाटल, तीसरी बोरी में मेकडावल नम्बर 1 विस्की सेलिबे्रशन थ्री एक्स रम के 39 पाव , चैथी बोरी में मेकडावल नम्बर 1 विस्की के 52 पाव एवं पांचवी बोरी में बैगपाईपर की 12 बाटल रखी मिली,   उक्त शराब एवं शराब परिवहन में प्रयुक्त वाहन तथा एक एक मोबाइल फोन जप्त करते हुये दोनों के विरूद्ध धारा 34(2) आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये उक्त शराब कहॅा से और कैसे प्राप्त की के सम्बंध मे पूछताछ जारी है।
          अवैध शराब की तस्करी में लिप्त आरोपियो को रंगे हाथ पकड़ने में उप निरीक्षक अनिल कुमार , प्रधान आरक्षक संतोष पाण्डे, आरक्षक मोहन, पंकज, रीतेश एवं संजय दीक्षित की सराहनीय भूमिका रही।