देशभर में वैक्सीन बनाने का प्रयास चल रहा है, - Bhaskar Crime

Breaking

देशभर में वैक्सीन बनाने का प्रयास चल रहा है,


ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ( Oxford university ) द्वारा तैयार की गई वैक्सीन का  


नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिए अब सभी लोगों को वैक्सीन का इंतजार है। वहीं देशभर में वैक्सीन बनाने का प्रयास चल रहा है, इन प्रयासों में फिलहाल वैक्सीन की रेस में सबसे आगे चल रही ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका ने उत्पादन के लिए सीरम इंडिया से एग्रीमेंट किया है। बता दें कि सीरम इंडिया पुणे स्थित भारतीय कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) विश्व में सबसे ज्यादा वैक्सीन उत्पादन करने वाली कंपनियों में शामिल है।

*कोरोना वैक्सीन का अंतिम चरण का ह्यूमन ट्रायल हो रहा शुरू, सबसे पहले इन शहरों को मिलेगी वैक्सीन*

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की गई वैक्सीन का प्रोडक्शन भारत स्थित सीरम इंस्टिट्यूट में किया जाएगा। serum institute की ओर से भारत में बड़े पैमाने पर इस वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल किया जाना है। हालांकि इस वैक्सीन का पहले और दूसरे चरण का ट्रायल भारत में नहीं हुआ है। लेकिन आखिरी चरण का ट्रायल भारत में भी होगा, जिससे की यह पता चल जाए की भारत में रहने वाले लोगों पर वैक्सीन कितनी प्रभावशाली।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में तैयार की गई वैक्सीन का पहला और दूसरा चरण का ट्रायल सक्सेसफुल रहा है। अब वैक्सीन के तीसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल शुरु हो रहा है। खबरों के अनुसार, वैक्सीन का उत्पादन भारत में बड़े पैमाने पर किया जाएगा। पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया(SII) वैक्सीन का उत्पादन करेगी।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही वैक्सीन का वैज्ञानिक नाम ChAdOx1 nCoV-19 है। इसे कोविड शील्ड (covid shield) नाम दिया गया है। खबरों के मुताबिक, अगस्त के अंतिम सप्ताह तक करीब एक करोड़ वैक्सीन की डोज तैयार करके देने की बात कही गई है। हालांकि कंपनी दो से तीन करोड़ डोज बनाने की तैयारी में है।

यहां लगेगी सबसे पहले वैक्सीन

खबरों के मुताबिक, तीसरे चरण का ट्रायल सफल होने के बाद देश में सबसे पहले पुणे और मुंबई में रहनेवाले लोगों को यह वैक्सीन लगाई जा सकती है। सीरम इंस्टिट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला के मुताबिक, वैक्सीन के दूसरे-तीसरे ह्यूमन ट्रायल के दौरान पुणे और मुंबई में रहनेवाले चार से पांच हजार लोगों को यह वैक्सीन लगाई जा सकती है।

गौरतलब है कि, महाराष्ट्र राज्य कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है, इनमें भी मुंबई और पुणे शहर में कोरोना के कई हॉटस्पॉट क्षेत्र हैं, जहां कोरोना संक्रमण की रफ्तार काफी तेजी है। खबरों के मुताबिक, अगस्त के अंतिम तक इन दोनों शहरों के करीब 5 हजार लोगों को वैक्सीन लगाई जा सकती है।



कोरोनावायरस: हल्दी से बढ़ाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता