रोको ना टोको, उल्लंघन करने वालों को ठोको अभियान करें - Bhaskar Crime

Breaking

रोको ना टोको, उल्लंघन करने वालों को ठोको अभियान करें

रोको_टोको_अभियान - अब तो एक ही अभियान चलना चाहिए ना रोको ना टोको सिर्फ उल्लंघन करने वालोंं को चालान ठोको क्योंकि शहर में करो ना की बढ़ती संख्या को लेकर अब एक ही अभियान है

                ( पुलिस प्रशासन द्वारा चलाया जाए)
रोको अभियान मतलब शहर में बिना मार्कस और सोशल डिस्टेंस मैं किसी व्यक्ति को रोका तो नेतागिरी या फिर पावर दिखाने लगते हैं
टोको अभियान-शहर में दुकान मैं या सरकारी विभाग में बिना मार्क्स के घूमते समय किसी ने टोका तो बहस का आलम बन जाता है     
कुछ दिन पहले यातायात पुलिस द्वारा यातायात थाने से विशाल रैली निकालकर पुलिस अधिकारी एवं पुलिस ने जनता से सहयोग मांगा था यातायात के नियम और करोना की बीमारियों से बचने में सहयोग करें और नियम का पालन करें           
सतर्कता अपनाकर जीती जा सकती है कोरोना से जंग.                            नुक्कड़ नाटक और स्ट्रीट पेंटिंग से किया जा रहा लोगों को जागरूक.
                                         
रोको-टोको अभियान के तहत जहाँ मास्क न पहनने वाले और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों पर प्रशासन द्वारा जुर्माने की कार्यवाही की जा रही है वहीं  कोरोना के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के उपायों के प्रति लोगों को नुक्कड़ नाटक, स्लोगन, स्ट्रीट पेंटिंग और गीत-संगीत के माध्यम से जागरूक करने की अनूठी पहल भी जिले में शुरू की गई है । इसी क्रम में आज नौदरा ब्रिज  पर जिला रेडक्रॉस सोसायटी के तत्वाधान में राष्ट्रीय सेवा योजना के युवाओं द्वारा नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत कर लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचने सभी जरूरी सावधानी बरतने का आग्रह किया गया । साथ ही स्ट्रीट पेंटिंग के जरिये मास्क पहनने आपस में एक दूसरे से दूरी बनाये रखने और जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलने का संदेश भी दिया गया ।                                          कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव की जानकारी देने  आयोजित इस कार्यक्रम में कलेक्टर भरत यादव ने भी शिरकत की । इस दौरान उन्होंने जन-जागरूकता पैदा करने के इस कार्यक्रम में सहभागी बने सभी कलाकारों का उत्साहवर्धन किया और  लोगों से भी अपील की न केवल वे खुद नियमों और प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करें बल्कि दूसरों को भी इनका पालन करने को मजबूर करें । श्री यादव ने कहा कि लॉकडाउन के बाद सभी गतिविधियां शुरू हो जाने से प्रशासन के सामने कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने की चुनौतियां बढ़ गई है । इन चुनौतियों का सामना नागरिकों की सक्रिय सहभागिता से ही किया जा सकता है । उन्होंने कहा कि हर नागरिक यह संकल्प ले किवो  घर में हो या बाहर कोई भी व्यक्ति यदि नियमों का उल्लंघन करते दिखाई दे वो तत्काल उसे रोकेगा और   मास्क पहनने एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने उसे टोकेगा । श्री यादव ने कहा कि यही वो उपाय है जो कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से लोगों के स्वास्थ की सुरक्षा कर सकता है । उन्होंने नागरिकों से कहा कि जबलपुर से शुरू हुये रोको-टोको कार्यक्रम को यदि प्रदेश भर में अपनाया गया है तो नागरिकों को भी इस अभियान को जनांदोलन का स्वरूप देने इसमें सक्रिय सहभागिता निभानी होगी ।                         जागरुकता के इस कार्यक्रम में जिला रेडक्रॉस समिति के सचिव आशीष दीक्षित भी मौजूद थे । उन्होंने बताया कि रोको-टोको कार्यक्रम के तहत नागरिकों को जागरूक करने चलाये जा रहे कार्यक्रम के तहत शहर के प्रमुख मार्गों एवं चौराहों पर स्वयं सेवी संगठनों के सहयोग से नुक्कड़ नाटक एवं गीत- संगीत, स्लोगन , वॉल पेंटिंग और स्ट्रीट पेंटिंग के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं । श्री दीक्षित ने बताया कि कलेक्टर भरत यादव की  पहल पर शुरू किये गये इस कार्यक्रम के माध्यम से  कोरोना के संक्रमण को रोकने लोगों को जागरूक करने का यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा । इस अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला समन्वयक आनन्द राणा एवं उपेंद्र यादव भी मौजूद थे । नौदरा पुल के इस कार्यक्रम के बाद कलेक्टर श्री यादव मुक्ति फाउंडेशन द्वारा रसल चौक में आयोजित जन-जागरूकता के कार्यक्रम में भी शामिल हुए ।