यह हनुमान जी की पूजा एक स्त्री के रूप में होती है।अनोखा मंदिर - Bhaskar Crime

Breaking

यह हनुमान जी की पूजा एक स्त्री के रूप में होती है।अनोखा मंदिर

: भारत में हनुमान जी के कई प्रसिद्ध मंदिर हैं, एक ऐसा अनोखा मंदिर भी है
           
                                                                                 जिसमें हनुमान जी की पूजा एक स्त्री के रूप में होती है।
 यह मंदिर छत्तीसगढ़ राज्य के बिलासपुर शहर से लगभग 25 किलोमीटर दूर रतनपुर में स्थित गिरजाबांध में मौजूद है।
                          इस मंदिर में ‘देवी’ हनुमान की मूर्ति है। यहां हनुमान जी को पुरुष नहीं बल्कि स्त्री के रूप में पूजा जाता है।
 इस मंदिर के प्रति लोगों में काफी आस्था है। ऐसा माना जाता है कि जो कोई भी यहां पूजा अर्चना करता है,

अनोखा मंदिर- जहां, स्त्री रूप में पूजे जाते हैं हनुमान जी

 उसकी मनोकामना पूरी होती है।शायद, यह पूरी दुनिया में मौजूद इकलौता मंदिर भी है जहां भगवान हनुमान की पूजा एक महिला के रूप में की जाती है।इस अनोखे मंदिर की स्थापना के पीछे की पौराणिक कथा भी काफी दिलचस्प है।किंवदंती है कि मंदिर का निर्माण पृथ्वी देवजू नाम के राजा ने कराया था। राजा पृथ्वी देवजू हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त थे औऱ उन्होंने कई सालों तक रतनपुर पर शासन किया था।कहा जाता है कि वह कुष्ठ रोग से पीड़ित थे।एक रात राजा के सपने में हनुमान जी आए और उन्हें मंदिर बनाने का निर्देश दिया। राजा ने मंदिर का निर्माण शुरू करवाया। जब मंदिर काम पूरा होने वाले था, तब राजा के सपने में फिर हनुमान जी आए और उन्हें महामाया कुंड से मूर्ति निकाल कर मंदिर में स्थापित करने के लिए कहा।
राजा ने हनुमान जी के निर्देशों का पालन किया और कुंड से मूर्ति निकाली गई। लेकिन हनुमान जी की मूर्ति को स्त्री रूप में देखकर हैरान रह गए। फिर महामाया कुंड से निकली मूर्ति को पूरे विधि विधान से मंदिर में स्थापित किया गया। मूर्ति स्थापना के बाद राजा की बीमारी पूरी तरह से ठीक हो गई।रतनपुर की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर और मार्च के बीच है।