टी एल बैठक में कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्यवाही निर्देश - Bhaskar Crime

Breaking

टी एल बैठक में कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्यवाही निर्देश

                                   
कलेक्टर भरत यादव ने कोरोना के मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुये सभी एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में नियमों एवं प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराने के निर्देश 

दिये हैं । 

कलेक्टर ने कहा कि एसडीएम को उनके क्षेत्र में कोरोना पॉजिटिव मिले मरीजों की अस्पताल में तत्काल शिफ्टिंग भी सुनिश्चित करना होगा । इसके साथ ही पॉजिटिव मरीज के कॉन्टेक्ट में आये लोगों की ट्रेसिंग पर भी ध्यान देना होगा तथा नजदीकी सम्पर्क वाले लोगों को संस्थागत क्वारन्टीन में भेजना होगा
श्री यादव ने कहा कि एसडीएम अपने क्षेत्र में कोरोना से बचाव के उपायों के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने अभियान भी चलायें साथ ही नियमों और गाईड लाइन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही भी करें ।                                                                         
 श्री यादव ने होम आइसोलेशन अथवा क्वारन्टीन के नियमों का उल्लंघन करने वालों से जुर्माना वसूलने के साथ-साथ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश भी एसडीएम को दिये । उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्ट के लिये सेम्पल देने के बाद क्वारन्टीन में रहने की बजाय यहाँ-वहाँ घूमने वालों के विरुद्ध भी कठोर कार्यवाही की जाये ।                                                                       

ग्रामीण क्षेत्र के स्ट्रीट वेंडर को भी दिलायें प्रधानमंत्री पथ विक्रेता स्व-निधि योजना का लाभ :-
कलेक्टर श्री यादव ने एसडीएम और स्थानीय निकायों के अधिकारियों को शहरी क्षेत्र की तरह ग्रामीण क्षेत्र के पथ विक्रेताओं को भी प्रधानमंत्री पथ विक्रेता स्व-निधि योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिये हैं । श्री  यादव ने शहरी क्षेत्र में अभी तक की प्रगति की समीक्षा करते हुये अधिकारियों से कहा कि योजना के तहत पंजीयन कराने वाले 50 प्रतिशत पथ विक्रेताओं को ऋण का वितरण 15 अगस्त तक हर हाल में किया जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्र में भी प्रधानमंत्री पथ विक्रेता स्व-निधि योजना के तहत पात्र हितग्राहियों के प्रकरण तैयार कर बैंकों को ऋण स्वीकृत हेतु  प्रेषित करने के निर्देश दिये हैं ।                                                      श्री यादव ने बैठक में खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्र सभी श्रेणी के हितग्राहियों का सर्वे का काम शीघ्र पूरा करने की हिदायत भी अधिकारियों को दी । उन्होंने अपात्रों के नाम की सूची तैयार कर चस्पा करने और एनआईसी की वेबसाईट पर प्रदर्शित करने तथा दावें-आपत्तियाँ प्राप्त कर अपात्रों के नाम काटने एवं पात्रों के नाम जोड़ने की कार्यवाही दस अगस्त तक पूरी कर लेने के निर्देश दिये हैं । श्री यादव ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पूर्व में पात्र पाये गये शेष हितग्राहियों को भी पात्रता पर्ची शीघ्र जारी करने पर जोर दिया । उन्होंने आधार सीडिंग के साथ-साथ केंद्र एवं राज्य शासन द्वारा कोरोना के चलते घोषित की गई योजनाओं के तहत पात्र उपभोक्ताओं को खाद्यान्न का वितरण भी दस अगस्त तक कर लेने की हिदायत दी ।                                                      कलेक्टर ने बैठक में बारिश के मद्देनजर शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में सभी जलस्रोतों की साफ-सफाई , ब्लीचिंग और क्लोरीनेशन करने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने सभी एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में बाढ़ और जलप्लावन की स्थिति पर भी नजर रखने के निर्देश दिये हैं । श्री यादव ने नाले-नालियों की सफाई पर विशेष ध्यान देने भी कहा ताकि ये चोक न हो और जलप्लावन की स्थिति न बनें ।                                          कलेक्टर ने बैठक में समिति स्तर पर खाद की  उपलब्धता की समीक्षा की । उन्होंने कहा कि डबल लॉक केंद्रों और समितियों में किसानों की आवश्यकता के अनुरूप खाद की उपलब्धता बनी रहनी चाहिये । श्री यादव ने कृषि विभाग के अमले को खेतों तक जाने और बारिश में आये गेप के कारण फसलों को कीट-व्याधि से बचाने किसानों को समयोचित सलाह देने के निर्देश भी दिये । श्री यादव ने धान की बुआई पर भी नजर रखने के निर्देश कृषि विभाग के अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि धान की रोपाई के लिये यदि कहीं पानी की जरूरत हो तो बरगी बांध के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर नहरों से पानी छोड़ने की व्यवस्था भी करें । श्री यादव ने कहा की इस बार कई किसानों द्वारा धाएँ के स्थान पर मक्का और सोयाबीन की फसल लगाई गई है । इसे देखते हुये फसलों की गिरदावरी में भी खास ध्यान देना होगा।          श्री यादव ने बैठक में राजस्व प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा करते हुये नामांतरण, बंटवारा और सीमांकन के लंबित प्रकरणों का शीघ्र करने के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिये । उन्होंने बड़े बकायादारों से राजस्व वसूली को प्राथमिकता देने के निर्देश भी दिये । कलेक्टर ने राजस्व न्यायालयों से पारित सभी आदेशों को आरसीएमएस पोर्टल पर अनिवार्यतः अपलोड करने की हिदायत भी दी । उन्होंने कहा कि राजस्व अधिकारी आम नागरिकों द्वारा नामांतरण, बंटवारा और सीमांकन के आरसीएमएस पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज कराये गये आवेदनों का भी तय समय सीमा में निराकरण सुनिश्चित करें । बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर संदीप जीआर अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित और अपर कलेक्टर व्ही पी द्विवेदी भी मौजूद