चिकन के फ्रोजन पंखों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है - Bhaskar Crime

Breaking

चिकन के फ्रोजन पंखों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है

दुनियाभर में कोरोना वायरस से मची तबाही के बीच चीन में ब्राजील से आयातित चिकन के फ्रोजन पंखों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है, 
जिसके बाद यहां हड़कंप मच गया है। कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला चीन में ही सामने आया था, जिसके बाद यह देखते ही देखते दुनियाभर में फैल गया। 
अधिकारियों के मुताबिक, यह आयातित खाद्य पदार्थों में कोरोना संक्रमण का नवीनतम केस है।
                 ब्राजील से आई थी खाद्य सामग्री
यह मामला दक्षिणी चीन के शेनझेन शहर का है, जहां ब्राजील से आयाजित फ्रोजन चिकन विंग्‍स के सैंपल्‍स की जब जांच की गई तो इन्‍हें कोरोना संक्रमित पाया गया।सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, यहां की नगरपालिका सरकार ने इस संबंध में बयान जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि शेनझेन के लोंगगांग जिले में आयातित खाद्य सामग्री की जब जांच की गई तो फ्रोजन चिकन विंग्‍स के एक बैच से लिए गए नमूने को संक्रमित पाया गया। अधिकारियों ने हालांकि ब्रांड का नाम नहीं बताया।
शेनझेन में अधिकारियों ने इसका पता लगते ही तुरंत उन लोगों के बारे में जानकारी जुटाई, जो इस खाद् पदार्थ के संपर्क में आए थे। उनका कोरोना टेस्‍ट कराया गया। सभी का रिजल्‍ट निगेटिव आया, जिसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली। स्‍टॉक में मौजूद सभी अन्‍य खाद्य पदार्थों को भी सील कर दिया गया। अधिकारी अब उस ब्रांड के अन्‍य उत्‍पादों की भी गहन जांच व परीक्षण में जुट गए हैं, जिसके फ्रोजन चिकन विंग्‍स के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इस ब्रांड के कई उत्‍पाद बेचे जा चुके हैं, जिसके बारे में विस्तृत जानकारी जुटाई जा रही है।
                    क्‍या कहता है WHO
हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम (सीडीसी) सहित तमाम स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि खाद्य पदार्थों के जरिये कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की संभवना बेहद कम है। लेकिन शेनझेन में आयातित खाद्य पदार्थों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि से यहां हड़कंप मचा हुआ है। लोगों में आयातित खाद्य पदार्थों को लेकर भी डर बैठता जा रहा है। चीन में यूं तो इम्‍पोर्टेड मीट और सीफूड की खूब मांग है, लेकिन ऐसी कुछ अन्‍य घटनाओं का हवाला देते हुए यहां सोशल मीडिया पर एक तबका सभी तरह के फ्रोजन खाद्य पदार्थों के विदेशों से आयात पर रोक लगाने की मांग भी कर रहा है।