कोरोना के भर्ती मरीजों के लिए नई व्यवस्था होम आइसोलेशन में मरीजों की जानकारी सार्थक लाइट एप पर अपलाेड की जाएगी - Bhaskar Crime

Breaking

कोरोना के भर्ती मरीजों के लिए नई व्यवस्था होम आइसोलेशन में मरीजों की जानकारी सार्थक लाइट एप पर अपलाेड की जाएगी

कोरोना के भर्ती मरीजों के लिए नई व्यवस्था:10 दिन में से आखिरी 3 दिन बुखार नहीं तो कोविड डेडिकेटेड अस्पताल से मिलेगी छुट्टी, कोविड केयर सेंटर या होम आइसोलेशन में रखेंगे

होम आइसोलेशन में मरीजों की जानकारी सार्थक लाइट एप पर अपलाेड की जाएगी
अस्पताल में गंभीर मरीजों को बेड नहीं मिल रहे इसलिए यह व्यवस्था
*वीडियो कॉलिंग और सार्थक लाइट एप से होगी मॉनिटरिंग*
यही नहीं, बिना लक्षण वाले मरीजों की मॉनीटरिंग कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से वीडियो कॉलिंग और सार्थक लाइट एप से की जाए। 10 दिन से अस्पताल में भर्ती मरीज काे अगर आखिरी के तीन दिन बुखार नहीं आए ताे, उसकी अस्पताल से छुट्टी की जाएगी। इसकी जानकारी सार्थक लाइट एप पर अपलाेड की जाएगी।
                 गंभीर मरीजों पर फोकस
डेडिकेटेड काेविड अस्पतालों के लगभग सभी बेड काेविड मरीजाें से भरे जा चुके हैं। आलम यह है कि कई बार गंभीर मरीजों को भी अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे हैं। इस स्थिति से उभरने के लिए यह व्यवस्था लागू की गई है। ताकि गंभीर मरीजों को रखकर इलाज दिया जा सके।
तीन दिन से बुखार नहीं आया है। ऑक्सीजन सपाेर्ट के बिना चार दिन से लगातार आक्सीजन सेचुरेशन 95 फीसदी से ज्यादा है तो ऐसे मरीजाें काे डेडिकेटेड काेविड हाॅस्पिटल से जिले के डेडिकेटेड काेविड हेल्थ सेंटर में इलाज के लिए शिफ्ट किया जा सकेगा। काेविड मरीजाें के इलाज की इस व्यवस्था काे लागू करने का आदेश शनिवार काे आयुक्त स्वास्थ्य डाॅ. संजय गाेयल ने जारी किया है।
डेडिकेटेड काेविड हाॅस्पिटल के मरीज काे काेविड हेल्थ सेंटर शिफ्ट करने की व्यवस्था देने की वजह काेराेना के गंभीर मरीजाें काे काेविड हाॅस्पिटल में स्पेशिएलिटी ट्रीटमेंट के इंतजाम सुनिश्चित करना है। जारी आदेश में अस्पताल अधीक्षकाें और सीएमएचओ काे निर्देशित किया गया है कि डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती मरीज को तीन दिन से बुखार नहीं आया है, बिना ऑक्सीजन सपोर्ट सांस लेने में परेशानी नहीं हो तो उनको कोविड केयर सेंटर या फिर होम आइसोलेशन में डाउन ट्रांसफर किया जाए।