करोना महामारी में समाजसेवी स्वयंसेवी और संगठन द्वारा जन-जागरूकता अभियान में सहभागी प्रदान करे - Bhaskar Crime

Breaking

करोना महामारी में समाजसेवी स्वयंसेवी और संगठन द्वारा जन-जागरूकता अभियान में सहभागी प्रदान करे

जबलपुर /लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों, बेसहारा और गरीबों को भोजन उपलब्ध कराने में रेडक्रॉस सोसायटी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने वाले स्वयं सेवी संगठन अब  कोरोना प्रोटोकॉल के प्रति आम नागरिकों में जागरूकता पैदा करने के कार्य में भी जिला प्रशासन के  सहयोगी की भूमिका निभायेंगे ।
कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में आज बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में स्वयंसेवी संगठनों के पदाधिकारियों ने कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिये लोगों को जागरूक बनाने के अभियान में सहभागी बनने की सहमति प्रदान की ।

कोरोना से बचने के उपायों के प्रति जन-जागरूकता पैदा करने के प्रयासों में भी भागीदार बनेंगे स्वयंसेवी संगठन.     
          कलेक्टर श्री शर्मा ने बैठक में कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से  पैदा हुई विपरीत परिस्थितियों  के दौरान जबलपुर में गरीबों, बेसहारा एवं प्रवासी मजदूरों को भोजन और अन्य सुविधायें उपलब्ध कराने की दिशा में किये गये कार्यों की प्रदेश ही नहीं बल्कि देश भर काफी सराहा गया है । श्री शर्मा ने कहा कि अब जबकि बाजार सहित सभी गतिविधियों को खोल दिया गया है तब इस स्थिति में लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये प्रेरित करने की ज्यादा जरूरत है । उन्होंने कहा कि स्वयं सेवी संगठन इस दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं । उन्होंने कहा कि जबलपुर को यदि कोरोना के संक्रमण से मुक्त करना है तो सभी संगठनों को एक प्लेटफार्म पर आना होगा । इसके लिये जिला रेडक्रॉस सोसायटी बेहतर माध्यम बन सकता है ।
          कलेक्टर ने बैठक में स्वयं सेवी संगठनों के पदाधिकारियों से कोरोना प्रोटोकॉल के प्रति जन- जागरूकता पैदा करने के लिये क्या उपाय किये जा सकते हैं इस बारे में सुझाव भी मांगे । उन्होंने लोगों में जागरूकता पैदा करने दो अलग-अलग तरह की रणनीति बनाने की जरूरत भी बताई । एक उन लोगों के लिये जो लापरवाह या निडर हो गये हैं और दूसरी उनके लिये जो कोरोना को लेकर बहुत ज्यादा डरे हुये हैं ।  श्री शर्मा ने स्वयं सेवी संगठनों से छोटे-छोटे क्षेत्रों को चिन्हित कर जागरूकता पैदा करने की गतिविधियों का संचालन करने की बात कही ताकि इन्हें ज्यादा प्रभावी बनाया जा सके । उन्होंने रोको-टोको अभियान में भी सहभागिता निभाने का आग्रह स्वयं सेवी संगठनों से किया ।
          कलेक्टर ने बैठक में कहा कि यदि हमारे प्रयासों से हर व्यक्ति मास्क पहनने लगे और फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने लगे तो भी कोरोना के संक्रमण को रोकने में काफी हद तक कामयाब हो सकेंगे। उन्होंने लोगो को जागरूक बनासनर सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने का सुझाव भी संगठनों को दिया । कलेक्टर ने प्लाज्मा डोनेशन के क्षेत्र में और ज्यादा प्रयास करने की जरूरत भी बैठक में बताई । उन्होंने स्वयं सेवी संगठनों के पदाधिकारियों से कहा कि कोरोना से स्वस्थ हुये लोगों को प्लाज्मा डोनेट करने के लिये व्यक्तिगत सम्पर्क कर प्रेरित करें । उन्होंने प्लाज्मा डोनेट करने के इच्छुक व्यक्तियों की सूची तैयार की बात कही ताकि जरूरत पड़ने पर उनसे तुरन्त सम्पर्क किया जा सके । कलेक्टर ने कहा कि प्लाज्मा डोनेट करने वाले व्यक्ति को प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया जायेगा ।
                        बैठक में स्वयं सेवी संगठनों के पदाधिकारियों ने कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये  लोगों को जागरूक करने के बारे में महत्वपूर्ण सुझाव दिये । बैठक के प्रारम्भ में जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव आशीष दीक्षित ने लॉकडाउन के दौरान स्वयंसेवी संगठनों द्वारा किये गये सेवा के कार्यों की जानकारी कलेक्टर को दी ।