नकली देशी घी का घर के कमरों को बनाया था गोदाम क्राइम ब्रांच और पुलिस ने मारा छापा - Bhaskar Crime

Breaking

नकली देशी घी का घर के कमरों को बनाया था गोदाम क्राइम ब्रांच और पुलिस ने मारा छापा

पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा जबलपुर जिले में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को  कालाबाजारी में लिप्त तथा मानव जीवन को संकटा उत्तपन्न करने वाले मिलावटखोरों को चिन्हित करते हुये सभी के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करने हेतु आदेशित किया गया

डालडा घी एवं रिफाईंड तेल, में एसेंस मिलाकर नकली देशी घी बनाने वाला पकडा गया , 60 किलो तैयार किया हुआ नकली घी, 105 किलो डालडा, 165 लीटर रिफाईंड आईल, 4 बाॅटल एसेंस, गैस चूल्हा, इलेक्ट्रानिक तराजू, आदि जप्त 


आज दिनांक 16-9-2020 को दोपहर में क्राईम ब्रांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुयी थी कि हाथीताल गुरूद्वारे के सामने रहने वाला सुरेश गुप्ता डालडा एवं रिफाईड आईल तथा एसेंस   मिलाकर नकली देशी घी बना रहा है और अवैध लाभ अर्जित करने के लिये लोगों को विक्रय कर रहा है।
                       उक्त सूचना पर क्राईम ब्रांच एवं थाना गोरखपुर पुलिस द्वारा सुरेश गुप्ता के घर पर दबिश दी गयी, एवं घर के कमरों का निरीक्षण किया गया जिस पर घर के अंदर पाॅलीथीन में लगभग 60 किलो नकली घी तैयार किया हुआ तथा नकली घी बनाने मे उपयोग हेतु 7 टीन डालडा 105 किलो, 165 लीटर रिफाईंड आईल जो टीनों में भरा हुआ है, तथा 4 बाॅटल मे एसेंस, 5 किलो पैकिंग पन्नी  कीमती लगभग  42 हजार 500 रुपए का रखा हुआ मिला। घर पर मौजूद मिले सुरेश गुप्ता पिता संगम लाल गुप्ता उम्र 45 वर्ष  से पूछताछ की गयी जिसने बताया कि गंजे में सोयाबीन तेल, डालडा रिफाईड तेल एंव देशी घी का एसेन्स मिलाकर गैस भट्टी की सहायता से गर्म करता है और मिक्सर से मिक्स करता है ठंडा होने पर इलेक्ट्रनिक वेटिंग मशीन से तौलकर पालीथिन के पैकेट में पैक कर बेच देता है।  सूचना पर पहुंची खाद्य विभाग की टीम द्वारा नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। मौके से लगभग 60 किलो तैयार किया हुआ नकली घी, 105 किलो डालडा, 165 लीटर रिफाईंड आईल, 4 बाॅटल एसेंस, गैस चूल्हा, इलेक्ट्रानिक तराजू, आदि जप्त किया गया है। 
                        नकली घी के कारोबार का पर्दाफाश करने में क्राईम ब्रांच के प्रधान आरक्षक धनंजय सिंह, विजय शुक्ला, आरक्षक बीरबल, मोहित उपाध्याय, बृजेन्द्र कसाना, दीपक तिवारी, नीरज तिवारी तथा थाना प्रभारी गोरखपुर सुश्री सारिका पांडे एवं थाना गोरखपुर के पीएसआई राहुल परमार एवं आरक्षक प्रतीक नेमा, गोपेश की सराहनीय भूमिका रही।