न्यायालयों द्वारा 7 स्थाई वारंट जारी किये गये थे जो लंबित थे,शातिर चिट्लर गिरफ्तार - Bhaskar Crime

Breaking

न्यायालयों द्वारा 7 स्थाई वारंट जारी किये गये थे जो लंबित थे,शातिर चिट्लर गिरफ्तार



                        *पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री द्वारा चेारी, नकबजनी, एवं मारपीट तथा अन्य भादवि के प्रकरणों एवं थानों में लंबित वारंटों की तामीली का विशेष अभियान चलाया गया है इसके साथ ही  फरार आरोपियेां एवं वारंटियों की गिरफ्तारी पर ईनाम भी उद्घोषित किया गया है ।


                         आदेश के परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर (दक्षिण) /अपराध श्री गोपाल खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर श्री आलोक शर्मा  द्वारा अनुभाग के थाना प्रभारियों से प्रकरणों में फरार आरोपियों एवं वारंटियों की धरपकड करायी जा रही है।

                      लगभग 10 वर्ष पूर्व बरेला स्थित कलकत्ता की कम्पनी सिंप्लैक्स इन्फ्रास्ट्रक्चर की कम्पनी मे ठेकेदारी का काम करने वाले नीरज मेहरा पिता जी.पी. मेहरा उम्र 35 वर्ष निवासी नारायण नगर गुलौआ चैक गढा का जो वर्तमान मे भोपाल स्थित आकृति यू.को. सिटी मे 5-6 वर्ष से रहने लगा था, जिसके द्वारा लोगों से 10 लाख रूपयों से अधिक की वसूली की गयी थी, तथा उसके बदले मे चैक दिये गये थे, जिसके चैक बाउंस के केस मान्नीय न्यायालय मे लंबित थे, एवं मान्नीय न्यायालयों द्वारा 7 स्थाई वारंट  जारी किये गये थे जो लंबित थे।

                     वरिष्ठ अधिकारियों से मार्ग निर्देशन प्राप्त कर थाना प्रभारी गोरखपुर सुश्री सारिका पाण्डे द्वारा एक टीम भोपाल भेजी गयी। टीम के द्वारा पतासाजी करते हुये थाना शाहपुरा जिला भोपाल से नीरज मेहरा पिता जी.पी. मेहरा उम्र 36 वर्ष निासी गुंलौआ चैक गढा हाल निवासी गुलमोहर शिवाय अपार्टमेंट शाहपुरा भोपाल जो कि भोपाल मे काजू का धंधा करता है को पकड़कर थाना  गोरखपुर लाया गया एवं लंबित 7 गैर म्यादी वारंटो मे विधिवत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

 *उल्लेखनीय भूमिका* - 7  स्थाई वारंटों में फरार  आरोपी नीरज मेहरा को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी गोरखपुर सुश्री सारिका पाण्डे, प्रघान आरक्षक अशोक राय, आरक्षक रत्नेश राय, संदीप पाल की सराहनीय भूमिका रही।