स्ट्रीट वेंडर याेजना:98,100 में से 51 हजार आवेदन निरस्तफेरी, ठेले में व्यवसाय याेजना काे बिना समझे रजिस्ट्रेशन करवा - Bhaskar Crime

Breaking

स्ट्रीट वेंडर याेजना:98,100 में से 51 हजार आवेदन निरस्तफेरी, ठेले में व्यवसाय याेजना काे बिना समझे रजिस्ट्रेशन करवा

*प्रदेश में सवा चार लाख आवेदन निरस्त किये गयेयाेजना काे बिना समझे रजिस्ट्रेशन करवा लिए इसलिए निरस्त हुए*


 *स्ट्रीट वेंडर याेजना:98,100 में से 51 हजार आवेदन निरस्त; आवेदनों की सत्यापन प्रक्रिया में अपात्र हुए बाहर*

भोपाल  फेरी, ठेले में व्यवसाय करने वालाें के लिए चल रही स्ट्रीट वेंडर याेजना में प्रदेश में सवा चार लाख आवेदन निरस्त कर दिए गए हैं। यह संख्या याेजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वाले आवेदनाें की लगभग आधी है। राजधानी में 98,100 लोगों ने आवेदन किया था। इसमें से 51 हजार आवेदन निरस्त हुए हैं। आवेदनाें का सत्यापन करने के बाद यह स्थिति सामने आई है। काेराेना के कारण बंद हुए छाेटे व्यवसाय काे फिर से गति देने के लिए यह याेजना शुरू की गई है। मप्र में स्ट्रीट वेंडराें काे 10 हजार का ब्याज मुक्त लाेन दिया जा रहा है। इस याेजना के लिए 8.73 लाख लाेगाें ने पंजीयन कराया था। इनमें से 4.19 लाख आवेदन निरस्त किए गए हैं।क्योंकि बिना समझे कराया लोगों ने रजिस्ट्रेशन

नगरीय प्रशासन के अधिकारी बताते हैं कि आवेदन इसलिए निरस्त हुए क्याेंकि बहुत से लाेगाें ने याेजना काे बिना समझे रजिस्ट्रेशन करवा लिए। फेरी या ठेला लगाकर सामान बेचने वाले लोग ही ऋण ले सकते हैं। योजना के तहत उन्हीं को लोन की सुविधा मिलेगी जो 24 मार्च 2020 या उससे पहले से ये काम कर रहे थे। बहुत से ऐसे लाेगाें ने आवेदन किया जाे व्यवसाय नहीं कर रहे थे।घर से काम करने वालाें, पक्की दुकान वालाें ने भी रजिस्ट्रेशन करा लिया। घरेलू कामकाजी महिलाओं ने भी आवेदन कर दिए। किसी परिवार का एक सदस्य व्यवसाय करता है, लेकिन रजिस्ट्रेशन कई लोगों ने करा लिया। भाैतिक सत्यापन में पता चला कि जिस स्थान पर व्यवसाय का दावा किया गया, रजिस्ट्रेशन कराने वाला वहां व्यवसाय नहीं करता तब आवेदन निरस्त हाे गया।