हाथरस दो दिनों के लिए मानवता को ध्यान में रखते हुए पीड़िता के परिवार से मिलने गई थीं, - Bhaskar Crime

Breaking

हाथरस दो दिनों के लिए मानवता को ध्यान में रखते हुए पीड़िता के परिवार से मिलने गई थीं,

 हाथरस की घटना को लेकर आज पीड़ित के साथ बहुजन समाज पार्टी द्वारा जबलपुर 


संभागीय आयुक्त, कलेक्टर, पुलिस महानिदेशक, पुलिस अधीक्षक और अनुसूचित जनजाति थाने में ज्ञापन सौंपा और मुझे नक्सलवादी आरोप लगाया जा रहा है और गलत  अफवाह उड़ा कर मुझे बदनाम किया जा रहा है  इसलिए हम  आए हैं जांच की निष्पक्ष किया जाए और न्याय मिला जाए

हाथरस अनुसूचित जाति पीड़िता के परिवार से मिलने जाने पर अनुसूचित जाति डॉ. राजकुमार बंसल को मीडिया (प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक) एवं हिन्दू सेवा परिषद् के नेता अतुल जेसवानी और उनके साथियों द्वारा नक्सली भाभी, फरार भाभी कहकर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने, 


मीडिया द्वारा 10 अन्य मीडिया चैनलों और इपल सिंक एं हिल सेवा परिषद् के नेता अतुल जेसवानी और उनके साथियों द्वारा अनुसूचित जाति की महिला को, जो कि एक रिप्युटेड डॉक्टर (MBBS, DOMS, MD Pharmacology) हैं और सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज में कार्यरत् हैं । वह एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जिनकों हम लोग व्यक्तिगत मे जानने हैं तो एक नेक महिला हैं और अनेकों सामाजिक संगठनों को सहयोग करती हैं और सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेती हैं।

विगत दिनों वह हाथरस दो दिनों के लिए मानवता को ध्यान में रखते हुए पीड़िता के परिवार से मिलने गई थीं, परन्तु मीडिया ने उन्हें नक्सलवादी भाभी, फरार, लापता, संदिग्ध महिला आदि शब्दों से प्रचारित करके चरित्र हनन व मानसिक एवं सामाजिक रूप से प्रताड़ना की । जबकि 7 तारीख को आने के बाद उन्होंने मीडिया एवं सोशल मीडिया में खुद अपना हाथरस का अनुभव साझा किया, इसके बावजूद ये लोग प्रताड़ित कर रहा है ।

 इनके खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने व गलत अफवाह फैलाने तथा नक्सली कहने वाले मीडिया व हिन्दू सेवा परिषद् जैसे संगठनों के ऊपर नियमानुसार उचित कार्यवाही  करें ।