द्यार्थियों को पीएचडी में मिलेगा प्रवेश कोरोना की वजह से शोध न कर पाने वाले - Bhaskar Crime

Breaking

द्यार्थियों को पीएचडी में मिलेगा प्रवेश कोरोना की वजह से शोध न कर पाने वाले

 *कोरोना की वजह से शोध न कर पाने वाले विद्यार्थियों को पीएचडी में मिलेगा प्रवेश*

डॉ. एसपी तिवारी, कुलपति, वेटरनरी विवि जबलपुर ने बताया कि पीएचडी सीटों में प्रवेश के लिए पहले विवि के विद्यार्थियों को अवसर दिया जाएगा


। जिन विद्यार्थियों को पीडीसी नहीं मिल पाई है, वे भी काउंसिलिंग में प्रवेश के पात्र होंगे। मैंने इस संबंध में डीआइ को निर्देश दे दिया है

जबलपुर। कोरोनाकाल की वजह से जिन विद्यार्थियों का शोध वर्क पूरा नहीं हो पाया, उन्हें पीएचडी की प्रवेश प्रक्रिया (काउंसिलिंग) में शामिल होने का मौका दिया जाएगा। नानाजी देशमुख पशुचिकित्सा विश्वविद्यालय केकुलपति डॉ. एसपी तिवारी ने संचालक शिक्षण को इस संबंध में निर्देश दे दिए हैं। दरअसल जबलपुर वेटरनरी महाविद्यालय में गुरुवार से पीएचडी की प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो रही है, लेकिन संचालक शिक्षण विभाग के एक आदेश से पीएचडी कोर्स में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की मुश्किलें बढ़ा दी थी। वहीं गुरुवार को पहली बार फिशरी कॉलेज की पीजी की 8 सीटों के लिए काउंसिलिंग होगी।

विवि के संचालक शिक्षण डॉ.एसके जोशी ने आदेश जारी कि जिन विद्यार्थियों को पीडीसी (प्रोविजनल डिग्री सर्टिफिकेट) मिल गया है, वे ही पीएचडी की काउंसिलिंग में प्रवेश के पात्र होंगे, लेकिन कोरोना काल में वेटरनरी विवि के विद्यार्थियों की पढ़ाई नहीं हो पाई। जबलपुर, रीवा और महू वेटरनरी कॉलेज में पढ़ने वाले अधिकांश पीजी के विद्यार्थियों का शोध वर्क नहीं हो सका। इस वजह से विवि द्वारा आज से होने जा रही पीएचडी काउंसिलिंग प्रक्रिया में शामिल होने के लिए वह अपात्र हो गए थे।

*पीजी की काउंसिलिंग में बचाई सीटें*

बुधवार को जबलपुर वेटरनरी कॉलेज में जबलपुर, महू और रीवा वेटरनरी कॉलेज की पीजी की तकरीबन 100 सीटों के लिए काउंसिलिंग हुई। इस दौरान विवि के सभी योग्य विद्यार्थियों को इसमें शामिल होने का मौका मिला, लेकिन इस बीच आयोजन समिति ने कुल सीटों में एक हर विभाग से एक सीट बचा ली, जिसको लेकर विद्यार्थियों ने आपत्ति भी की है। इस संबंध में विवि का कहना था कि अन्य राज्यों के विद्यार्थियों के लिए 25 फीसदी सीटों का आरक्षण दिया गया है, जिस वजह से ऐसा किया गया।


1. विवि की पीजी और पीएचडी की प्रवेश परीक्षा के लिए 250 ने परीक्षा दी


2. पीजी और पीएचडी की लगभग 150 सीटों के लिए काउंसिलिंग होगी


3. बुधवार को पीजी की सीटों के लिए काउंसिलिंग हुई


4. गुरुवार को पीएचडी की सीटों के लिए काउंसिलिंग होगी