तुलसी व‍िवाह के द‍िन राशि के अनुसार कुछ व‍िशेष उपाय कर ल‍िए जाएं तो सभी परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है - Bhaskar Crime

Breaking

तुलसी व‍िवाह के द‍िन राशि के अनुसार कुछ व‍िशेष उपाय कर ल‍िए जाएं तो सभी परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है

*आज तुलसी व‍िवाह के द‍िन इन उपायों से होता है लाभ*



यूं तो तुलसी के उपाय क‍िसी भी द‍िन क‍िए जा सकते हैं। लेक‍िन यद‍ि तुलसी व‍िवाह के द‍िन राशि के अनुसार कुछ व‍िशेष उपाय कर ल‍िए जाएं तो जातक को न केवल सभी परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है। 


बल्कि मनचाही मन्‍नतें भी पूरी हो जाती हैं। इस बार आज तुलसी व‍िवाह 25 नवंबर यानी कल है। तो आइए इस दिन राशि के अनुसार क‍िए जाने वाले ये उपाय कौन से हैं?


*मेष राश‍ि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


मेष राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन माता तुलसी और शालिग्राम भगवान के विवाह के समय खुद ही अपने हाथों से मां तुलसी को लाल चुनरी पहनानी चाह‍िए। इसके बाद धूप-दीप द‍िखाकर अपनी मन्‍नत पूरी करने की अर्जी लगानी चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से लाइफ की सारी टेंशन दूर हो जाती है।


 *वृष राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


वृष राशि के जातकों को तुलसी विवाह पर मां तुलसी को इत्र अर्पित करना चाहिए। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से जीवन में कभी धन की कोई कमीं नही होती। साथ ही जीवन में ऐश्वर्य भी बना रहता है। इसी के साथ जातक के सभी प्रकार के ग्रह दोष भी समाप्त हो जाते हैं।


*मिथुन राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


मिथुन राशि को  तुलसी विवाह के दिन जातकों को मां तुलसी को हरे रंग के वस्त्र और हरे रंग की चूड़ियां अर्पित करनी चाहिए। ऐसा करने से आपका वैवाहिक जीवन सुखमय रहेगा और यदि आपका विवाह में कोई ग्रह बाधा आ रही है तो वह भी समाप्त हो जाएगी।


*कर्क राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


कर्क राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन शाम के समय तुलसी के नीचे घी का दीपक जलाना चाहिए। ऐसा करने से इस राशि के लोगों का न केवल चंद्रमा ठीक होगा। बल्कि मानसिक शांति भी प्राप्त होती है। इसलिए तुलसी विवाह के दिन इस राशि के लोगों को तुलसी के पौधे के नीचे घी का दीपक जरूर जलाना चाहिए।


*सिंह राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


सिंह राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन माता तुलसी के पौधे पर लाल पुष्प अर्पित करने चाहिए। साथ ही शाम के समय रोली का तिलक करके तुलसी के पौधे के नीचे दीपक अवश्य जलाना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में मान-सम्मान की प्राप्ति होती है।


*कन्या राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


कन्या राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन तुलसी का पौधा मंदिर में दान करना चाहिए। ऐसा करने से इस राशि के जातकों को सफलता के योग बनेंगे। इतना ही नहीं यह उपाय करने से नौकरी और व्यापार में चल रही सभी समस्याएं भी समाप्त हो जाती हैं।


*तुला राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


तुलसी व‍िवाह के द‍िन तुला राशि के जातकों को माता तुलसी को सफेद रंग की मिठाई का भोग लगाना चाहिए। यह उपाय करने से सुख और शांति की प्राप्ति होती है। इतना हीं नहीं इस उपाय से घर-परिवार के लोगों का आपसी प्रेम भी बढ़ता है।


*वृश्चिक राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


वृश्चिक राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन माता तुलसी को श्रृंगार की सभी वस्तुएं अर्पित करनी चाहिए। इससे जातकों को शत्रु बाधा से मुक्ति मिलती है और यदि कोई कोर्ट केस चल रहा हो तो उसमें भी सफलता म‍िलती है।


*धनु राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


धनु राश‍ि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन तुलसी और शालिग्राम का विवाह कराते समय माता तुलसी को हल्दी अवश्य लगानी चाह‍िए। ऐसा करने से घर में मांगलिक कार्यों में आ रही सभी प्रकार की रुकावटें समाप्त हो जाती हैं। साथ ही घर-पर‍िवार के सभी सदस्‍यों के जीवन में खुश‍ियों का आगमन होता है।


*मकर राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


मकर राश‍ि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन माता तुलसी का कन्यादान अपने हाथों से करना चाहिए। ऐसा करने से जातक को न केवल कन्यादान का फल प्राप्त होता है। बल्कि संतान के विवाह में आ रही सभी समस्याएं भी समाप्‍त हो जाती हैं।


*कुंभ राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


कुंभ राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन तुलसी का पौधा किसी जरूरतमंद व्यक्ति को दान करना चाह‍िए। या फ‍िर किसी मंदिर में लगाना चाहिए। ऐसा करने से शनिदेव का आर्शीवाद प्राप्त होता है। साथ ही दुर्घटना, अकाल मृत्यु और अन्‍य परेशनियों से भी राहत म‍िलती है।


*मीन राशि के जातकों को करना चाह‍िए ये काम*


मीन राशि के जातकों को तुलसी विवाह के दिन घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाना चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से घर से सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है। लेक‍िन ध्‍यान रखें क‍ि तुलसी का पौधा लगाने के बाद उसके नीचे शालिग्राम अवश्य रखें।