कोराेना वैक्सीनेशन कब शुरू होगा फरवरी से शुरू हो जाएगा टीकाकरण - Bhaskar Crime

Breaking

कोराेना वैक्सीनेशन कब शुरू होगा फरवरी से शुरू हो जाएगा टीकाकरण

फरवरी से शुरू हो जाएगा टीकाकरण, पहले चरण में 21 हजार हैल्थ वर्कर्स काे लगेगी वैक्सीन

कोविड-19 टीकाकरण के लिए क्षेत्रीय संचालक कार्यालय में जिला स्तरीय कार्यशाला आयोजित की गई

 पहले चरण में जिले के 21 हजार से ज्यादा हैल्थ वर्कर्स को टीका लगेगा

वैक्सीनेशन करने वाली टीम में 5 लोग होंगे और पूरी प्रक्रिया पेपरलेस हाेगी


जबलपुर  दुनिया भर के कई देशों में कोरोना का वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद से ही सभी के मन में यह प्रश्न था कि हमारे शहर में कोराेना वैक्सीनेशन कब शुरू होगा? आपको बता दें कि इस सवाल का जवाब आ गया है। अगर सभी तैयारियाँ तय समय पर हो गईं तो अगले साल फरवरी के पहले सप्ताह में कोराेना की वैक्सीन लगना शुरू हो जाएगी जानकारों के अनुसार पहले चरण में जिले के 21 हजार से ज्यादा हैल्थ वर्कर्स को टीका लगेगा। यह संख्या अभी और बढ़ भी सकती है क्योंकि टीके के लिए हैल्थ वर्कर्स का रजिस्ट्रेशन अभी भी चल रहा है। जिले में 31 सेंटर्स से वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूट की जाएगी। वैक्सीनेशन करने वाली टीम में 5 लोग होंगे और पूरी प्रक्रिया पेपरलेस हाेगी। इसके लिए कोविन पोर्टल भी बनाया गया है। टीमें इलेक्शन मोड पर काम करेंगी


एक बूथ पर 100 लोगों का टीकाकरण, प्रत्येक टीकाकरण बूथ पर 100 लाेगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। बूथ के तीन हिस्से होंगे, पहले जानकारी वेरीफाई होगी, इसके बाद वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरे हिस्से में आधे घंटे ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा। वैक्सीन के दो डोज लगाए जाएँगे। दूसरा डोज 1 महीने बाद लगाया जाएगा।

जनवरी में मिल सकती वैक्सीन की पहली खेप जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एसएस दाहिया ने बताया* कि 1 जनवरी से तीन दिवसीय पोलियो टीकाकरण अभियान शुरू होना है, इस अभियान के बाद ही कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होगा। वैक्सीन रखने के लिए हमारे पास पर्याप्त स्टोरेज है। जनवरी में वैक्सीन की पहली खेप मिल सकती है।टीकाकरण के लिए मिला प्रशिक्षण - कोविड-19 टीकाकरण के लिए क्षेत्रीय संचालक कार्यालय में जिला स्तरीय कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में राज्य स्तरीय प्रशिक्षक विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसआरटीएल डॉ. अभिषेक जैन ने कम्प्यूटर पर प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया। कार्यशाला में डॉ. वायएस ठाकुर, डॉ. एसके उपाध्याय, डॉ. एसएस दाहिया, डॉ. जलज खरे आदि उपस्थित रहे।