लाल मैरिज शादी करने पहुंचे युवक-युवती परिवारों वालों का कलेक्टर परिसर में हंगामा - Bhaskar Crime

Breaking

लाल मैरिज शादी करने पहुंचे युवक-युवती परिवारों वालों का कलेक्टर परिसर में हंगामा

कोर्ट शादी करने पहुंचे युवा युवती दोनों पड़ोसी हैं और दोनों में प्यार हो गया लड़की के परिवार वालों ने विरोध किया


युवक-युवती नाराज घरवालों ने गुस्से में कहा एक वर्ष में टूट जाए रिश्ता

युवक-युवती को पुलिस सुरक्षा में कटनी ले जाया गया

एतराज युवक के घरवालों को थी। पहले वे दोनों की शादी के लिए राजी थे

परिवार वालों का हंगामा देख पुलिस  कलेक्टर परिसर पहुंची


कोर्ट मैरिज करने पहुंचे थे युवक-युवती, बुलानी पड़ी पुलिस, 

नाराज पिता व मां को समझाती कोड रेड प्रभारी अरुणा वाहने

जबलपुर  कलेक्ट्रेट कार्यालय में युवक-युवती की शादी कराने पुलिस बुलानी पड़ी। एतराज युवक के घरवालों को थी। पहले वे दोनों की शादी के लिए राजी थे। इसी बीच युवक की रेलवे में नौकरी लग गई। इसके बाद उनका इरादा बदल गया। दोनों ही एक ही समाज के हैं और एक-दूसरे को पहले से पसंद करते थे। घरवालों के विरोध को दरकिनार कर दोनों शादी करने पहुंचे थे। शादी के बाद पुलिस सुरक्षा में दोनों को कटनी पहुंचाया गया। युवक वहीं पर रेलवे में कार्यरत है।

जानकारी के अनुसार माढ़ोताल आईटीआई के पास रहने वाला अभिषेक चौधरी रेलवे में कटनी में पदस्थ है। वह पड़ोस में रहने वाली अपने ही समाज की युवती को पसंद करता था। युवती भी उसे पसंद करती थी। दोनों ने बुधवार को कोर्ट में शादी की अर्जी दी थी। दोनों शादी करने पहुंचे थे कि इसकी खबर युवक के घरवालों को लग गई। कोर्ट नंबर 42 में वे पहुंच गए। युवक के मां-पिता, मामा व नाना ने जमकर हंगामा किया। पिता ने बेटे को कोर्ट के अंदर ही थप्पड़ बरसा दिए। मां कोर्ट में ही लेट कर रोने लगी।

परिवार वालों का हंगामा देख पुलिस को खबर दी गई। मौके पर तुंरत बेलबाग, ओमती व कोड रेड की टीम पहुंची। पुलिस ने युवक के घरवालों को कोर्ट रूम से बाहर निकाला। तब उनकी शादी हो पाई। इसके बाद पुलिस की सुरक्षा में दोनों को कटनी पहुंचाया गया। परिवार वाले इतने गुस्से में थे कि आशीर्वाद देने के स्थान पर बेटे को भला बुरा बोलते रहे। बोले की ये शादी एक साल में टूट जाएगी। मां-बाप का दिल दुखाया है, शांति नहीं मिलेगी। ओमती थाना के एसआई सतीष झारिया ने बताया कि युवक-युवती बालिग थे और अपनी मर्जी से शादी करने पहुंचे थे

अपर कलेक्टर कोर्ट में विवाह करने पहुंचे जोड़े में वधु पक्ष की तरफ से किसी तरह की प्रतिक्रिया देखने नहीं मिली। सूत्रों ने बताया कि युवक की नौकरी रेलवे में लगने के बाद विवाह हो रहा है। वहीं एक पक्ष का कहना था कि युवती के स्वजनों के साथ पूर्व में भी रिश्ते की बात चल चुकी थी। लेकिन बाद में वर पक्ष ने शादी करने से इंकार कर दिया। लड़के की मां और उसके पिता ने अपर कलेक्टर के सामने अपनी आपत्ति लगाना चाही। चूंकि दोनों ही बालिग थे इसलिए नियमानुसार उनकी आपत्ति को स्वीकार नहीं किया जा सकता था। दोनों पक्षों के बयान लिए गए। इसके बाद वर-वधु के बयान भी हुए। जिसमें यह बात स्पष्ट हो गई कि दोनों ही बिना किसी दबाव के विवाह कर रहे हैं। मामला पहले तो बहुत गर्माया और गलियारे में तमाशबीनों की भीड़ जुट गई। लेकिन आधा घंटे की पूछताछ और विभागीय प्रक्रिया में वर-वधु को अलग रास्ते से जाना पड़ा और स्वजन अपने रास्ते चल दिए।