वीडियो कांफ्रेंस में बताया गया कि कोरोना वेक्सीन 16 जनवरी से चरणबद्ध रूप से लगाया जाएगा - Bhaskar Crime

Breaking

वीडियो कांफ्रेंस में बताया गया कि कोरोना वेक्सीन 16 जनवरी से चरणबद्ध रूप से लगाया जाएगा

 कोरोना वेक्सीनेशन के संबंध में मुख्यमंत्री के आमंत्रण पर

वीडियो कांफ्रेसिंग में शामिल हुए धर्मगुरु


वेक्सीनेशन सेंटर पर सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित की जाएगी

तीसरा चरण में 50 साल से ज्यादा उम्र और एक से ज्यादा बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों को लगेगा

जबलपुर - मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कोरोना वेक्सीन को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग की। इस दौरान कमिश्नर कार्यालय में कमिश्नर श्री बी चंद्रशेखर और कलेक्ट्रेट एनआईसी में धर्मगुरु मुफ्ती-ए-आजम मप्र मौलाना मोहम्मद हामिद अहमद सिद्दकी, जगतगुरु स्वामी श्याम देवाचार्य जी महाराज, महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद जी महाराज, फादर जेराल्ड अल्मेड़ा, जैन पंचायत के अध्यक्ष सत्येन्द्र जैन, जबलपुर सिख संगत के अध्यक्ष सरदार मनोहर सिंह रील  पूर्व मंत्री व विधायक श्री अजय विश्नोई, विधायक श्री संजय यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।


    वीडियो कांफ्रेंस में बताया गया कि कोरोना वेक्सीन 16 जनवरी से चरणबद्ध रूप से लगाया जाएगा।इस दौरान वेक्सीनेशन सेंटर पर सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड की लड़ाई में सभी को एकजुट होकर वेक्सीनेशन में सहयोग आवश्यक है क्योंकि कोविड का इलाज  वैक्सीन ही है। कोविशील्ड और कोवेक्सीन दोनों ही वेक्सीन पूर्ण रूप से सुरक्षित, प्रमाणित और समान रूप से असरकारक है।

     कोरोना वेक्सीनेशन के लिए कुछ प्रोटोकॉल है जिसमें सर्वप्रथम हेल्थ केयर वर्कर को वेक्सीन स्वास्थ्य केंद्रों पर लगेगा । इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर को तथा तीसरा चरण में 50 साल से ज्यादा उम्र और एक से ज्यादा बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों को लगेगा।फिर आगे का प्लान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पहली प्राथमिकता उन्हें है जो सबकी जान बचाते हैं अत: पहला टीका सफाई कर्मचारी को प्राथमिकता से लगाया जाएगा। कोविड वेक्सीन रजिस्ट्रेशन के आधार पर उसी क्रम से लगेगा। वेक्सीनेशन के संबंध में कहा गया कि  यह पूरी तरह सुरक्षित है और  वेक्सीनेशन के दौरान यदि कहीं किसी को कुछ एलर्जी होती है तो उसका इलाज भी है। इसलिए वेक्सीनेशन को लेकर अनावश्यक भ्रम ना फैलाएं और कोरोना वेक्सीनेशन के इस अभियान को सफल बनाने में सभी सहयोग करें।