38800 नए मतदाताओं के नाम जोड़े गए। वहीं 11784 मतदाताओं ने अपने नाम भी सूची से कटवाए। - Bhaskar Crime

Breaking

38800 नए मतदाताओं के नाम जोड़े गए। वहीं 11784 मतदाताओं ने अपने नाम भी सूची से कटवाए।

बड़ी संख्या में मतदाता सूची में लोगों ने अपने नाम जुड़वाए हैं और कटवाए भी हैं 

11 हजार से ज्यादा ने वोटर आईडी में कराया सुधार, हट गए इतने ही नाम

जिले में मतदाताओं की संख्या साढ़े 18 लाख के पार जिनके नए जुड़े नाम, उन्हें भी मिला वोट का अधिकार

एकह महीने से ज्यादा चला अभियान*  *जन्म तारीख में गलती थी, कार्ड नहीं मिला* 

*ऑनलाइन में निकाल सकते हैं मतदाता कार्ड* *शाहिद खान, उप जिला निर्वाचन अधिकारी* 


 जबलपुर/वोटर आईडी में गलती होने के बाद जिले के 11 हजार से ज्यादा लोगों ने अपने मतदाता कार्ड में सुधार करने फार्म भरा था। कुछ कार्ड में सुधार हो गया तो कुछ लोग अभी भी कार्ड पाने भटक रहे हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने तीन-तीन बार फार्म भरकर बीएलओ को सौंपे, लेकिन उसमें कोई सुधार नहीं हुआ। वहीं बड़ी संख्या में मतदाता सूची में लोगों ने अपने नाम जुड़वाए हैं और कटवाए भी हैं लेकिन उन्हें भी नए कार्ड नहीं मिल रहे हैं।

एकह महीने से ज्यादा चला अभियान* 

नए मतदाताओं के नाम जोड़ने, काटने व संशोधन करने जिले में 25 नवम्बर 2020 से 8 जनवरी 2021 तक अभियान चलाया गया। एक महीने से ज्यादा चले इस अभियान में 38800 नए मतदाताओं के नाम जोड़े गए। वहीं 11784 मतदाताओं ने अपने नाम भी सूची से कटवाए। इस तरह अब जिले में नए मतदाताओं की संख्या बढ़कर 18 लाख 53 हजार 673 हो गई है। अधिकारियों की मानें ताे जो नए नाम जोड़े गए हैं या सुधार हुआ है उन्हें भी आगामी नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में वोट डालने का अधिकार मिलेगा। 

*जन्म तारीख में गलती थी, कार्ड नहीं मिला* 

केंट विधानसभा क्षेत्र में रहने वाली प्रियंका ने बताया कि उनका मतदाता परिचय पत्र पहले से ही बना था, लेकिन उसमें जन्म तारीख की गलती थी। कहीं उन्हें दस्तावेज लगाने थे जिसके कारण उन्होंने बीएलओ के पास जाकर सुधार करने फार्म भरा। पिछले डेढ़ महीने से उन्हें भटकाया जा रहा है। उत्तर मध्य विधानसभा क्षेत्र में रहने वाली गोमती बाई के नाम में गलती थी, 3 बार सुधार फार्म भरा लेकिन हर बार गलत नाम से ही कार्ड बनकर आया। 

*ऑनलाइन में निकाल सकते हैं मतदाता कार्ड* 

मतदाता सूची अपडेट करने का काम एक बार फिर से 8 फरवरी से 15 फरवरी तक अभियान चलाकर नाम जोड़े और काटे जाएंगे और आपत्तियां ली जाएंगी। इसके बाद मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 3 मार्च को किया जाएगा। आमजन वोटर आईडी में ऑनलाइन भी सुधार करा सकते हैं या फिर कार्ड िनिकाल सकते हैं। 

मतदाता सूची में बड़ी संख्या में नाम जोड़े गए हैं। जितने नाम जोड़े गए हैं उन्हें भी आगामी चुनावों में जहां जिसका नाम होगा वोट डालने का अधिकार होगा। 

 *शाहिद खान, उप जिला निर्वाचन अधिकारी* 

जिन लोगों ने भी सुधार कराया या नए कार्ड बनवाए हैं उनके कार्ड बीएलओ घर आकर देंगे। अगर किसी को परेशानी है तो वे कलेक्ट्रेट में आकर कार्ड ले सकते हैं, उनकी समस्या का निराकरण किया जाएगा।