नर्मदा तट पर मैं भी शराब माफियाओं का डेरा बेखौफ, होते जा रहे हैं शराब माफिया - Bhaskar Crime

Breaking

नर्मदा तट पर मैं भी शराब माफियाओं का डेरा बेखौफ, होते जा रहे हैं शराब माफिया

कच्ची शराब पकड़ने आबकारी को बंदूक का सहारा लेना पड़ रहा है लगता है अब माफियाओं से खतरा बना रहता है

 प्रदेश भर में चलाया जा रहा है कच्ची शराब माफिया अभियान जो मध्य प्रदेश  मुखिया शिवराज सिंह चौहान द्वारा सख्त निर्देश दिया गया है 


भू माफिया और शराब माफियाओं के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई किया जाए विगत दिवस कुछ लोग जहरीली शराब पीकर अपनी जान गवानी पड़ी 

प्रदेश के सभी शासन-प्रशासन अधिकारियों को निर्देश दिया गया है लेकिन अब शराब माफिया भी दबंग और ताकतवर हो गए हैं जिससे अब आप कारी को बंदूक का सहारा लेने पड़ रहा है 

आज सुबह नर्मदा तट पर आबकारी विभाग द्वारा कच्ची शराब के तस्कर माफिया पर दबिश दिया गया जो कच्ची शराब तो पकड़ गया 

लेकिन अपराधी भाग निकले लगता है अपराधियों को दबिश से पहले उन्हें यह पता चल जाता है इसलिए भागने में सफल हो जाते हैं लगता है कहीं ना कहीं मुखबारी या विभागीय  तंत्र कमजोर है इसलिए अपराधियों को पकड़ने में नाकाम हो जाते हैं 


यह एक आबकारी विभाग में जांच का विषय है आखिर अपराधी भाग क्यों निकलते हैं

जबलपुर आबकारी आयुक्त म.प्र. के आदेश पर चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत कलेक्टर जबलपुर कर्मवीर शर्मा के निर्देशन में सहायक आयुक्त आबकारी एस. एन.दुबे के मार्ग दर्शन पर

कंट्रोल रूम प्रभारी एल. मरावी के नेतृत्व में आज नर्मदा तट पर सुबह - सुबह कच्ची शराब की भट्ठियां लगने के सूचना पर आज सुबह 5.00 बजे नर्मदा तट के किनारे ग्राम समद पिपरिया मै दबिश दी गई, 


           तलाशी के दौरान एक चढ़ी भट्टी 25 लीटर हाथ भट्टी कच्ची शराब एवं 70 प्लस्टिक डिब्बों में भरा महुआ लाहन लगभग 700 किलोग्राम बरामद किया गया । 

            भट्टी लगाने वाला व्यक्ति नर्मदा नदी में नाव लेकर दूसरे तरफ फरार हो गया अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध म. प्र.आबकारी अधिनियम की धारा 34 (1) क एवं 34 च के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया ।

       कार्यवाही के दौरान आबकारी उप निरीक्षक रविशंकर यादव, मुख्य आरक्षक नरेंद्र सिह उइक्ये , रमेश कुशराम, आरक्षक राकेश सिंह जादौन, अनुराग शर्मा उपस्थित रहे ।