कर्मवारी सम्मान' से पुलिसकर्मियों को कोविड-19 मेडल से सम्मानित किया जाएगा - Bhaskar Crime

Breaking

कर्मवारी सम्मान' से पुलिसकर्मियों को कोविड-19 मेडल से सम्मानित किया जाएगा

कोरोना में लगातार डयूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को 'काेविड-19 मेडल' बजट सत्र के बाद प्रदेशभर में होंगे कार्यक्रम

कर्मवारी सम्मान' नाम दिया गया है। संभावना है, काेरोना काल में 90 हजार से ज्यादा पुलिस अफसरों व कर्मचारियों

15 अगस्त 2020 को सम्मानित करने की थी योजना

अब मार्च2021को होगा

 सम्मान की घोषणा गृह मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा ने जून 2020 में यह घोषणा की थी

*पदक विजेता खिलाड़ियों की पुलिस में सीधी भर्ती*

आगे बढ़ा दिया गया था।

मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि बजट सत्र के बाद भोपाल में राज्य स्तरीय कार्यक्रम होगा 


 भोपाल/कोरोना महामारी काल में लगातार डयूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को कोविड-19 मेडल से सम्मानित किया जाएगा। इसे 'कर्मवारी सम्मान' नाम दिया गया है। संभावना है, काेरोना काल में 90 हजार से ज्यादा पुलिस अफसरों व कर्मचारियों ने परिवार से दूर रहकर डयूटी की थी। राज्य सरकार ने मेडल और कार्यक्रम आयोजित करने के लिए 7 करोड़ रुपए स्वीकृत किए हैं।

इस संबंध में गृह विभाग ने सोमवार देर शाम आदेश जारी कर दिया है। सम्मान की घोषणा गृह मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा ने जून 2020 में यह घोषणा की थी। दरअसल, गृह मंत्री बनने के बाद नरोत्तम मिश्रा पहली बार पुलिस मुख्यालय पहुंचे थे। जहां उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अफसरों की बैठक में यह निर्णय लिया था। बैठक में तय किया गया था, पुलिसकर्मियों को यह सम्मान 15 अगस्त 2020 को दिया जाएगा, लेकिन अगस्त माह में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम नहीं हो पाई थी, इसलिए यह कार्यक्रम आगे बढ़ा दिया गया था।

मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि पुलिसकर्मियों को कोविड-19 मेडल से सम्मानित करने के लिए बजट सत्र के बाद भोपाल में राज्य स्तरीय कार्यक्रम होगा। इसी दिन सभी जिलों में स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम करने की तैयारी है। गृह मंत्री ने नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यही नहीं जिन पुलिसकर्मियों ने कोरोना काल में अच्छा काम किया है, ऐसे जवानों को कोविड मेडल देने का निर्णय भी सरकार ने लिया है. मार्च 2021तक सभी जवानों को कोविड मेडल दिया जाएगा।

*पदक विजेता खिलाड़ियों की पुलिस में सीधी भर्ती*

गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है, मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं के पदक विजेता खिलाड़ियों की प्रदेश सरकार पुलिस विभाग में सीधी भर्ती करेगी। इसके अंतर्गत प्रतिवर्ष 60 पदों पर भर्ती की जाएगी। इनमें 10 पद उपनिरीक्षक और 50 पद कांस्टेबल के रहेंगे। गृह मंत्री के मुताबिक प्रदेश के उत्कृष्ट खिलाड़ियों को ओलिंपिक, एशियाड और कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक जीतने पर सीधे उप निरीक्षक के पद पर नियुक्ति दी जाएगी। राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं के पदक विजेता खिलाड़ियों को कांस्टेबल के पद पर नियुक्ति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि उपरोक्त पदों की भर्ती के लिए खिलाड़ियों के पास वांछित शैक्षणिक अर्हता आवश्यक है। उनकी न तो परीक्षा ली जाएगी और न ही फिजिकल टेस्ट होगा।