चक्कर काट काट की घिस गई चप्पल फिर भी नहीं मिला वेतन - Bhaskar Crime

Breaking

चक्कर काट काट की घिस गई चप्पल फिर भी नहीं मिला वेतन

दो वर्षों से विक्टोरिया के चक्कर काट काट की घिस गई चप्पल फिर भी नहीं मिला वेतन
जबलपुर* मध्य प्रदेश अनुसूचित जाति जनजाति अधिकारी कर्मचारी संघ अजाक्स जारी विज्ञप्ति में बताया है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुंडम मैं पदस्थ डे्सर  के पद पर अरविंद कुमार मौर्य को पिछले 2 वर्षों से नहीं मिला वेतन जिसके लिए कई बार कुंडम से विक्टोरिया गया और वहां के  अधिकारीयों एवं बाबूओ के चक्कर काटकर चप्पल तक घिस गई परंतु अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगी अधिकारियों को जरा सा  भी नहीं लगा की इस अपना घर कैसे चलाता होगा  पिछले 2 वर्षों से बिना वेतन का  अपने परिवार का भरण पोषण कैसे कर रहा होगा  कोई उसमें पूछे आज इसकी परिस्थिति इतना खराब है की भीख मांगने तक नोबद आ गया है अपने वेतन को लेकर जब बाबू के पास जाता है तो बाबू द्वारा टालमटोल करके उसे वापस कर दिया जाता है संघ  कलेक्टर महोदय से मांग करता है कि ऐसे लापरवाही बाबू एवं अधिकारियों पर उचित कार्रवाई करते हुए श्री अरविंद मौर्य का 2 वर्ष की वेतन दिलवाने की कृपा करें*एक तो कोरोना की मार, ऊपर से वेतन को मोहताज* 

             संघ के अजय सोनकर, राजेन्द्र तेकाम, योगेश चौधरी,दालचंद पासी, नेतराम झारिया, राजू मस्के, सुरेंद्र महोबिया, डॉ आर.डी.अहिरवार, राधिका दाहिया,उदय राज सिंह, धर्मेंद्र कुकरेले, दिनेश बागरी,अजय मांझी,एम.अप्पाराव, रमेश पहलवान,पवन बावरिया नरेन्द्र हेडाऊ, योगीराज एडपाचे, पंकज एंडला, कोमल कोरचे, नरेश कुलस्ते होसी तेकाम पवन बरकडे, किशोर दहिया, नरेन्द्र उइके, तुलसी राम तेकाम, रोहित डोंगरे, घनश्याम अहिरवार, हरिश्चंद्र महोबिया, अनिल दाहिया, द्वारका कोरी,बी.देवराज,इन्द्रजीत सिंह, रविशंकर कोरी, किशोरी मरकाम, शिव कुमार पटारिया, मथुरा झारिया आदि ने माननीय कलेक्टर महोदय जी से मांग की है कि शीघ्र ही वेतन भुगतान कराने की मांग के साथ जिनकी लापरवाही से अभी तक वेतन भुगतान नहीं हुआ उन अधिकारियों पर कार्यवाही करने की मांग की है।