प्रदेश में नया प्रयोग मंत्री सारंग ने बताया कि भोपाल में एक नया प्रयोग कर मोबाइल जाँच यूनिट तैयार की गई है - Bhaskar Crime

Breaking

प्रदेश में नया प्रयोग मंत्री सारंग ने बताया कि भोपाल में एक नया प्रयोग कर मोबाइल जाँच यूनिट तैयार की गई है

*कोरोना टेस्टिंग का नया अभियान शुरू* 

प्रदेश में नया प्रयोग : कोविड जाँच शिविर

 क्षेत्रों में मोबाइल यूनिट से जाँच
 

 *भोपाल/ कोरोना नियंत्रण के लिये शहर के नगर निगम जोन में मोबाइल यूनिट के जरिये कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों की जाँच शुरू की गई है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने इस संबंध में मंगलवार को निर्देश दिये थे।

मंत्री श्री सारंग की पहल पर शुरू इन मोबाइल यूनिटों द्वारा जाँच का निरीक्षण करने गुरूवार को स्वयं मंत्री श्री सारंग विभिन्न स्थानों पर पहुँचे। उन्होंने शिव नगर स्थित सिद्धार्थ बौद्ध विहार और शासकीय स्कूल बड़वाई में मोबाइल यूनिट द्वारा लगाए गए कोविड जाँच शिविर का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने मौजूद टीम और मरीजों से चर्चा की। श्री सारंग ने क्षेत्र में सूचना और जन जागरूक करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक लक्षणों वाले व्यक्तियों को टेस्टिंग करवाने के लिये जागरूक किया जाये। दोनों केन्द्रों पर दोपहर तक प्रारंभिक तौर पर कोई भी पॉजीटिव नहीं पाया गया। क्रमश: 15 और 11 जाँच निरीक्षण के समय तक हुई थी।

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि भोपाल में एक नया प्रयोग कर मोबाइल जाँच यूनिट तैयार की गई है। यह लगभग 80 स्थानों पर जायेंगी और प्राथमिक लक्षणों वाले लोगों की जाँच करेगी। हर जोन में केन्द्र बनाये गये हैं। उन्होंने बताया कि लाउड स्पीकर के माध्यम से लोगों को जागरूक कर सूचना पहुँचाने का काम किया जा रहा है। इन केन्द्रों पर जाँच कर मेडिकल किट भी उपलब्ध करवाई जा रही है। यूनिट के जरिये टीम हर क्षेत्र में जाकर लोगों की जाँच कर रही है। कई लोग जो फीवर क्लीनिक तक नहीं जाना चाहते, उनके लिये यह कारगर साबित हो रहा है। इससे फीवर क्लीनिक पर दबाव भी कम होगा।

जिला प्रशासन एवं नगर पालिक निगम के सहयोग से कोविड जाँच शिविर लगाये जा रहे हैं। इस मौके पर नगर निगम आयुक्त श्री के.व्ही.एस. चौधरी और अपर आयुक्त श्री एम.पी. सिंह उपस्थित थे।

 *श्री सारंग ने देखा वैक्सीनेशन सेंटर* 

मंत्री श्री सारंग ने नई जेल रोड बड़वाई स्थित माँ वैष्णों हायर सेकेण्डरी स्कूल में लगे वैक्सीनेशन सेंटर का निरीक्षण भी किया। वैक्सीनेशन सेंटर पर 200 लोगों के लिये उपलब्ध वैक्सीन में से 108 वैक्सीन दोपहर तक लग चुकी थी। मंत्री श्री सारंग ने उपस्थित टीम से समुचित जानकारी प्राप्त की। साथ ही वैक्सीनेशन करवाने आ रहे नागरिकों से चर्चा कर उनका उत्साहवर्धन किया। साथ ही अन्य लोगों को वैक्सीनेशन के लिये प्रेरित करने को भी कहा।

 *पीपुल्स अस्पताल में प्री-मेच्योर बेबी से मिल श्री सारंग* 

मंत्री श्री सारंग पीपुल्स अस्पताल पहुँचकर 15 दिन की प्री-मेच्योर बेबी से मिले। इलाहाबाद की रहवासी कोरोना पॉजीटिव माँ की बच्ची को सीवियर निमोनिया पाया गया। माँ की मृत्यु के बाद डॉक्टर्स और नर्सेस के दुलार से ठीक हुई बच्ची आज अपने पिता के साथ घर वापस लौटेगी।

इस मौके पर मंत्री श्री सारंग ने कहा कि कोरोना से दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है, इसलिये इसको बीमारी नहीं महामारी कहा जा रहा है। ऐसे में संतोष है कि हेल्थ वर्कर्स के प्रयासों से प्रदेश में कोरोना की गति को नियंत्रित किया गया है। जनता के आत्म-अनुशासन से कोरोना की गति में कमी आई है। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना सभी को सुनिश्चित करना होगा। उसी से हम स्वयं और परिवार को बचा पाने में सक्षम होंगे। श्री सारंग ने कहा कि वैक्सीन को लेकर भी जन-जागरूकता की आवश्यकता है। सरकार जिम्मेदारी से कोरोना नियंत्रण के लिये प्रयासरत है। इसके साथ ही सभी का कर्त्तव्‍य है कि कोरोना से बचाव के सभी नियमों का पालन करें।

श्री सारंग ने कहा कि इस कठिन दौर में कई सेवाभावी लोग आगे आकर लोगों की मदद कर रहे हैं। लेकिन अब हमारा प्रयास है कि ऐसे सेवाभावी लोगों को स्वास्थ्य सेवा से भी जोड़ने का प्रयास किया जाये। इसके लिये उन्हें प्रशिक्षित भी किया जायेगा। इस मौके पर पीपुल्स ग्रुप के डायरेक्टर श्री रोहित पण्डित, युनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. राजेश कपूर, मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. अनिल कुमार दीक्षित और डायरेक्टर डॉ. अशोक मस्के उपस्थित थे।