गरीबों का राशन खा गए प्राने में तीन एफआईआर दर्ज कराई गई है। - Bhaskar Crime

Breaking

गरीबों का राशन खा गए प्राने में तीन एफआईआर दर्ज कराई गई है।

पीएम अन्रा  राशन योजना भी खा गए गरीबों का राशन

हितग्राहियों ने बयान में खोल दी दुकान संचालक की पोल
इस प्रकरण में पनागर थाने में तीन एफआईआर दर्ज कराई गई है।


 *जबलपुर/पीएम अन्न उत्सव के दौरान गरीबों के लिए आया राशन भी कई शासकीय उचित मूल्य दुकान के संचालक खा गए। 
 *पनागर पुलिस के मुताबिक कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी भावना तिवारी ने शिकायत कर बताया कि*
 उन्होंने 14 अक्टूबर को मझगवां पनागर स्थित शासकीय राशन दुकान की जांच की थी। ये दुकान भरदा पनागर निवासी मुकेश पटेल संचालित कर रहा है। जांच में पता चला कि उसने कार्ड धारियों को राशन वितरण में अनियमितता की है। बिना राशन और कैरोसिन वितरण किए ही बायोमेट्रिक सत्यापन में इसे दर्शा दिया गया था।

 *हितग्राहियों के बयान ने खोल दी पोल* 

जांच के दौरान गेंदबाई, दयाल कुशवाहा, सुहानी , राकेश कुशवाहा, संजय रजक, सियाबाई, मनीष पटेल, कुसुम यादव, रजनी पटेल के बयान लिए गए तो राशन वितरण में अनियमितता की पुष्टि हो गई। दुकान संचालक ने सितंबर में पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना का राशन ही किसी को नहीं दिया।

दयाल ने बताया कि उसे दो महीने से राशन व केरोसिन नहीं मिला। राकेश ने बताया कि नमक के एवज में 5 रुपए वसूल किए गए। संजय को जहां केरोसिन नहीं मिला, वहीं सिाबाई को नमक नहीं मिला। वहीं कुसुम यादव को पीएम अन्न योजना का लाभ नहीं मिला।

 *पीओएस मशीन में दर्शा देता था वितरण* 

आरोपी ऑनलाइन पीओएस मशीन से वितरण पहले दर्शा देता था, हितग्राहियों को पर्ची बाद में देता है। पीओएस मशीन की स्टॉक पर्ची से मिलान करने पर 962 किलो गेहूं कम, चावल 102 किलो अधिक, नमक 321 किलो अधिक, शक्कर दो किलो मिला। पनागर पुलिस ने धोखाधड़ी व आवश्यक वस्तु अधिनियम का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है।

 *पात्रता 20 किलो की, लेकिन राशन दे रहा था 10 किलो* 

वहीं दूसरी शिकायत कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी पल्लवी जैन ने कुशनेर पनागर नवासी इंद्र कुमार पटेल निवासी उमरिया पठरा पनागर के खिलाफ दर्ज कराया। यहां 14 अक्टूबर की जांच में हितग्राही राधाबाई को 20 किलो की बजाए 10 किलो ही राशन मिला।
इसके बाद पीओएस मशीन के स्टाक से मिलान किया गया तो दुकान में 599 किलो गेहूं कम तो इतना ही चावल अधिक मिला, 43 किलो नमक व तीन किलो शक्कर अधिक मिला। आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी व आवश्यक वस्तु अधिनियम का प्रकरण दर्ज किया है।

 *तीसरी एफआई अमानत में ख्यानत और आवश्यक वस्तु अधिनियम का दर्ज* 

तीसरी एफआईआर महगवां पनागर निवासी कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी सिद्धार्थ राय ने कुशनेर पिपरिया निवासी संदीप काछी और इंद्र कुमार पटेल के खिलाफ दर्ज कराई। उनके शासकीय दुकान में 1739 किलो गेहूं कम, 706 किलो चावल अधिक, 43 किलो नमक कम, 19 किलो शक्कर कम और 37 लीटर केरोसिन अधिक मिला।