2021महामारी का ऐसा विनाश का वर्ष लोग याद रखेंगे - Bhaskar Crime

Breaking

2021महामारी का ऐसा विनाश का वर्ष लोग याद रखेंगे

कभी हंसाया, कभी रुलाया...2021महामारी का ऐसा विनाश सदियों तक लोग याद रखेंगे

कोरोना काल में अधिकारी एवं कर्मचारियों के समाज सेवा समितियों 

द्वारा सहयोग से ही खाना बनता था और वहां से वितरण होता था

शहर वासियों को डर और दहशत देकर हिला कर रख दिया

 *जबलपुर//हर बार नए साल की शुरुआत कुछ वादों के साथ होती है, जो हम खुद से करते हैं. वादा ऐसा कि बुरी आदत छोड़ेंगे और अच्छी आदत को अपनाएंगे.वादा ऐसा कि अपनों के साथ रहेंगे, सपनों को सच करेंगे. लेकिन क्या 2021 में ऐसा हो पाया हम कोरोना महामारी की पहली लहर से उबर नहीं पाई थे कि मार्च माह में कोविड-19 की दूसरी लहर ने शहर वासियों को डर और दहशत देकर हिला कर रख दिया
ऐसा मंजर दिखलाया कि लोगों की रूह कांप गई, महामारी का ऐसा विनाश सदियों तक लोग याद रखेंगे।पर इस जान लेवा बीमारी के साथ भी दुःख में हमेशा लोगों के साथ खड़े रहने का साहस दिखाया जिले के मुखिया कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने
 *रक्षा बंधन में भी गरीब बहनों के घरों में  राशन किट पहुँचाकर दुःख बांटा*

कोरोना महामारी में जिन घरों का रोजगार छिन गया था तथा जिनके घर में खाने के लाले पड़ गए थे उन घरों में राशन किट पहुँचा कर राहत पहुँचाई गई कलेक्टर श्री शर्मा द्वारा एक -एक घर में एक माह का राशन किट कर्मचारियों के माध्यम से 587 घरों में पहुंचाया उन गरीब परिवारों ने कलेक्टर साहब और दानदाताओ को बहुत बहुत धन्यवाद प्रदान किया।
अक्सर कहा जाता है, कि कौन अपने है इसका पता विपरीत परिस्थितियों में ही चलता है। कोरोना महामारी जैसा कठिन समय हर किसी के लिए काल की तरह है। किसी ने अपनों को खो दिया, तो किसी ने रोजगार खो दिया। जनता कर्फ्यू के दौरान कई लोगों का काम बंद पड़ा है। उन्हें दो समय का खाना तक मुश्किल से नसीब हो पा रहा है। आखिर इससे ज्यादा कठिन समय और क्या हो सकता है। जहां पर अपने ही अपनों के लिए नहीं हैं। ऐसी परिस्थितियों में जबलपुर कलेक्ट्रेट के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने अपने शासकीय दायित्वों का निष्ठा पूर्वक निर्वहन करते हुए लगातार गरीब,असहाय,भूखे और दिव्यांगों लोगों को खाने की नई नई रेसिपी (व्यंजन) बनवाकर  मानवता की मिसाल पेश की।कभी सब्जी पूरी तो कभी चना मसाला, कभी आलू बंडे तो कभी कढ़ी चावल, कभी गक्कड़ भर्ता तो कभी खीर इस तरह से नए नए व्यंजनों से गरीब, जरूरतमंदो को लॉकडाउन में भोजन उपलब्ध करवा कर कुछ राहत देकर उनका दुख बांटने में मदद की है इस कड़ी में कलेक्ट्रेट के अधिकारियों कर्मचारियों ने अपने पैसों से भोजन सामग्री का वितरण यहां के कर्मचारियों एवं स्वयं सेवी संस्थाओं के द्वारा गरीब और जरूरत मंदो को बंटवाया गया है बीस संस्थाओं के माध्यम से शहर के कोने कोने में बसे गरीब बस्तियों में खाना पहुंचा कर सच्ची मानव सेवा की है 
 
   *कलेक्टर द्वारा आभार*

भोजन वितरण समापन अवसर पर कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने कहा कि इस विराट महामारी में समस्त अधिकारी एवं कर्मचारियों ने कंधे से कंधा मिलाकर मेरा साथ दिया  इसका नतीजा यह है कि हमने कोरोना को धीरे धीरे काबू में कर लिया है  कंट्रोल रूम के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने 24 घंटे सेवा दी साथ ही  गरीब बेसहारा परिवारों को निमित्त भोजन प्रदान करवाया