कलेक्टर ने स्वयं के वेतन के साथ जिलाधिकारियों के रोका इस माह का वेतन - Bhaskar Crime

Breaking

कलेक्टर ने स्वयं के वेतन के साथ जिलाधिकारियों के रोका इस माह का वेतन

*सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों में आशानुकूल निराकरण न होने पर*

सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों को संवेदनशीलता के साथ समय सीमा में निराकृत करें, 

*कलेक्टर ने स्वयं के वेतन के साथ जिलाधिकारियों के रोका इस माह का वेतन* 

एक-एक वेतन वृद्धि रोकी जाए और ट्रेजरी ऑफीसर को निर्देश दिये
 कि सौ दिन से अधिक के प्रकरण जिन अधिकारियों के हैं उन सभी के वेतन इस माह का आहरित नहीं करें

 *जबलपुर// कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में आज जिला पंचायत में लंबित पत्रों की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। 
इस दौरान अपर कलेक्टर श्री शेर सिंह मीणा, सुश्री विमलेश सिंह सहित सभी जिला अधिकारी उपस्थित थे।  
बैठक में विभागवार सीएम हेल्पलाइन के एक-एक प्रकरणों की समीक्षा करते हये कहा कि, सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों को संवेदनशीलता के साथ समय सीमा में निराकृत करें, कोई भी प्रकरण बिना अटेंड किये उच्च स्तर पर न जाये और यह कोशिश करें कि वह एल वन स्तर पर ही निराकृत हो जाए। 
सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों में आशानुकूल निराकरण न होने पर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा स्वयं इस माह के वेतन नहीं निकालने के साथ कहा कि वे सभी जिलाधिकारी जिनके सीएम हेल्पलाइन में ज्यादा प्रकरण हैं उन सबके एक-एक वेतन वृद्धि रोकी जाए और ट्रेजरी ऑफीसर को निर्देश दिये कि सौ दिन से अधिक के प्रकरण जिन अधिकारियों के हैं उन सभी के वेतन इस माह का आहरित नहीं करें।
इसके साथ ही स्वच्छता व सीएम हेल्पलाइन में लापरवाही पर नगर निगम के सभी उपायुक्तों के वेतन रोकने के निर्देश दिये हैं। साथ ही राजस्व प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही पर संबंधित तहसीलदारों के एक-एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश भी दिये। वहीं डिस्ट्रिक्ट मार्केटिंग आफिसर की अनुपस्थित पर उन्हें शोकाज नोटिस देने के निर्देश दिये। इतना ही नहीं प्रकरणों के निराकरण में उदासीनता पर पीआईयू के कार्यपालन यंत्री के वेतन वृद्धि रोकने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन हो चाहे, समाधान ऑनलाइन के प्रकरण सभी का निराकरण समय सीमा में करें। इसके साथ ही अन्य विभागीय लंबित पत्रों का निराकरण भी समय सीमा में सुनिश्चित करें। 
सौ दिन से अधिक प्रकरणों के साथ समाधान ऑनलाइन में चयनित विषयों की गहन समीक्षा कर कहा कि 30 दिसम्बर तक प्रकरणों का निराकरण करें। कलेक्टर श्री शर्मा ने कमिश्नर टीएल के विषय पर भी कहा कि इन्हें कमिश्नर वीसी के पहले तक निराकृत कर दें।
उन्होंने अपर कलेक्टर श्री मीणा व सुश्री विमलेश सिंह को निर्देश दिये कि अलग-अलग विभागों के लंबित प्रकरणों की समीक्षा जूम एप्प के माध्यम से कर प्रकरणों की समीक्षा करे और निराकरण करायें।  
बैठक में अंतर्विभीय मुद्दों पर चर्चा करते हुये कहा कि जनप्रतिनिधियों के प्रत्रों को जवाब समय पर देना सुनिश्चित करें और शासन की योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने की दिशा में कार्य करें। कोरोना वैक्सीनेशन के संबंध में कहा कि 9वीं से 12वीं तक के सभी बच्चों को 9 जनवरी तक टीकाकरण सुनिश्चित करायें। इसे एक अभियान के रूप में लेकर लक्ष्य को पूरा करें। बैठक के दौरान धान उर्पाजन, परिवहन व भुगतान के साथ धान उपार्जन से जुड़ी समस्याओं के निराकरण के संबंध में संबंधित अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिये। सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ सभी पात्र बालिकाओं को देने के भी निर्देश दिये। उन्होंने विशेष रूप से कहा कि समाधान ऑनलाइन के प्रकरण 30 दिसम्बर तक अनिवार्य रूप से क्लोज करायें