संयुक्त मोर्चा द्वारा चेतावनी भोपाल ले जाने का तीव्र विरोध किया जावेगा - Bhaskar Crime

Breaking

संयुक्त मोर्चा द्वारा चेतावनी भोपाल ले जाने का तीव्र विरोध किया जावेगा

शक्ति भवन पर बुरी नजर मध्यप्रदेश शासन की लगी है मध्य प्रदेश विद्युत मंडल के बाद मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मंडल बनाया गया 

छह कंपनियां बनाकर विद्युत मंडल को खंड खंड करने में सफल हो गए शासन के द्वारा कंपनी बनाकर प्रशासनिक अधिकारियों को प्रबंधक इसलिए बनाया गया था 

बिजली कंपनी को फायदा पहुंचाने हेतु षड्यत्र रचा गया है संयुक्त मोर्चा द्वारा भोपाल ले जाने का तीव्र विरोध किया जावेगा

जबलपुर//शक्ति भवन को खंड खंड करने की तैयारी वर्ष 2002 से चालू कर दी गई थी जब विद्युत मंडल को 6 कंपनी में बांटा गया था मध्य प्रदेश विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों के द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी कर विरोध किया गया है कि शक्ति भवन पर बुरी नजर मध्यप्रदेश शासन की लगी है मध्य प्रदेश विद्युत मंडल के बाद मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मंडल बनाया गया उसके बाद वर्ष 2002 में मध्य प्रदेश शासन के द्वारा छह कंपनियां बनाकर विद्युत मंडल को खंड खंड करने में सफल हो गए शासन के द्वारा कंपनी बनाकर प्रशासनिक अधिकारियों को प्रबंधक इसलिए बनाया गया था कि बिजली कंपनी को फायदा पहुंचाया जावे एवं उपभोक्ता सेवा सर्वोपरि का ध्यान रखते हुए उन्हें गुणवत्तापूर्ण बिजली घर घर पहुंचाई जाने का जुम्मा दिया गया था मगर वर्ष 2002 के बाद देखा जाए तो प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा कंपनियों को करोड़ों रुपए के कर्जे में डूबा दिया गया है प्रशासनिक अधिकारी कंपनी चलाने में पूर्ण तरीके से विफल हो गए हैं अपने आप को बचाने के लिए कभी वह मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन का कार्यालय तो कभी रेवेन्यू मैनेजमेंट का कार्यालय भोपाल ले जाने की तैयारी कर रहे हैं संयुक्त मोर्चा के हरेंद्र श्रीवास्तव अशोक जैन अजय मिश्रा राजकुमार नायक एसके सचदेवा मोहन दुबे राकेश रमन रैकवार आरके जैन राजकुमार सैनी अजय कश्यप अरुण मालवीय जेके कोस्टा शशि उपाध्याय महेश पटेल दशरथ शर्मा मदन पटेल सुरेंद्र मिश्रा आदि के द्वारा रेवेन्यू मैनेजमेंट कार्यालय को भोपाल ले जाने का तीव्र विरोध किया जावेगा