एफआईआर दर्ज किया जाए होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर - Bhaskar Crime

Breaking

एफआईआर दर्ज किया जाए होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर

 शहर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने


 

आज शाम सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को दिए निर्देश

*होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर दर्ज करायें एफआईआर*

इंसीडेण्ट कमाण्डरों एवं वार्डवार गठित दल प्रभारियों की बैठक में कलेक्टर ने दिये निर्देश


 *जबलपुर// शहर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने आज शाम सभी इंसीडेंट कमांडरों एवं नगर निगम के जोन वार गठित दल प्रभारियों की बैठक लेकर प्रत्येक कोरोना पॉजिटिव के घर का व्हेरीफिकेशन करने तथा होमाइसोलेशन की पर्याप्त सुविधा न होने पर उन्हें तत्काल कोविड केयर सेंटर शिफ्ट करने के निर्देश दिये हैं । कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में नगर निगम आयुक्त आशीष वशिष्ठ, अपर कलेक्टर शेर सिंह मीणा एवं सीएमएचओ डॉ रत्नेश कुररिया भी मौजूद थे ।

       श्री शर्मा ने बैठक में होमाइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमितों पर कड़ी निगरानी रखने तथा नियमों का उल्लंघन करने पर उनके विरुद्ध जानबूझकर संक्रमण फैलाने के आरोप में एफआईआर दर्ज कराने के भी निर्देश इंसीडेंट कमांडरों को दिये । उन्होंने कहा कि शहर में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ रहे प्रकरणों की बड़ी वजह पॉजिटिव पाये गये व्यक्ति के फर्स्ट कांटेक्ट में आने वाले व्यक्तियों का संक्रमित होना है । इसका साफ मतलब है कि होमाइसोलेशन में रहने वाले व्यक्ति प्रोटॉकाल का पालन नहीं कर रहे हैं और उनके साथ उनके परिवार के अधिकांश सदस्य भी पॉजिटिव हो रहे हैं ।

       कलेक्टर ने बैठक में कहा कि कोरोना पॉजिटिव पाये जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को दवाओं की किट तत्काल पहुंचाना सुनिश्चित किया जाये । उन्होंने कोरोना संक्रमितों व्हेरीफिकेशन के साथ घरों पर स्टीकर लगाने एवं आसपास सेनीटाइजेशन करने के निर्देश भी दिये । श्री शर्मा ने कहा कि होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे कोरोना संक्रमितों से कोरोना कण्ट्रोल रूम द्वारा वीडियो कॉलिंग के जरिये भी नजर रखी जाये। श्री शर्मा ने कहा कि यदि इन उपायों पर हम सख्ती से अमल कर पाये तो तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण की रफ्तार को कम कर सकेंगे। 

       कलेक्टर ने बैठक में इंसीडेंट कमांडरों से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्र के फीवर क्लीनिकों पर नियमित निगरानी रखें तथा सेम्पल की संख्या बढ़ाएं । श्री शर्मा ने कहा कि फीवर क्लीनिक के अमले को आसपास की दुकानों, चाय-पान के ठेलों और भीड़ वाले स्थानों पर रैंडम सेम्पलिंग करने के निर्देश भी दिये । उन्होंने मास्क पहनने और फिंजिकल डिस्टेंसिंग जैसे कोरोना की रोकथाम के अनुकूल व्यवहार का सख्ती से पालन कराने हिदायत भी अधिकारियों को दी ।