स्कूलों में कोविड से बचाव के लिए जारी गाइडलाईन का कड़ाई से पालन कराने के दिये निर्देश - Bhaskar Crime

Breaking

स्कूलों में कोविड से बचाव के लिए जारी गाइडलाईन का कड़ाई से पालन कराने के दिये निर्देश

 कलेक्टर ने ली शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक सभी स्कूलों में कोविड से बचाव के लिए जारी गाइडलाईन का कड़ाई से पालन कराने के दिये निर्देश


हर एक स्कूल पर रखें पूरी नजर, तभी आएगा सुधार- कलेक्टर श्री सुमन

छिंदवाड़ा// कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने निर्देश दिए हैं कि जिले के हर एक स्कूल पर पूरी नजर रखें। हर एक स्कूल में कितने विद्यार्थी दर्ज हैं, कितने उपस्थित हो रहे हैं, कितने शिक्षक पदस्थ हैं, नियमित शिक्षण हो रहा है या नहीं, सिलेबस की क्या स्थिति है आदि हर एक गतिविधि पर पूरी निगरानी रखें, तभी स्थिति में सुधार आएगा। स्कूल का समय बच्चों के भविष्य निर्माण का सबसे महत्वपूर्ण समय होता है। किसी की भी लापरवाही से उनका यह समय बरबाद नहीं हो। कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर के कारण पहले से ही बच्चों की शिक्षा प्रभावित हुई है। हमें नए परिवेश के अनुरूप स्वयं को ढालकर बच्चों को बेहतर से बेहतर शिक्षा देने का प्रयास करने की जरूरत है । कलेक्टर श्री सुमन आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में शिक्षा विभाग, जनजातीय कार्य विभाग और सर्व शिक्षा अभियान के अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कोविड संक्रमण की तीसरी लहर से बचाव के लिए सभी स्कूलों में नवीन गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी अरविंद चौरागडे, सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग एन.एस.बरकड़े, जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र जगदीश इरपाची, सभी बी.ई.ओ., बी.आर.सी. और अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री सुमन ने बैठक में निर्देश दिये कि आज ही प्रत्येक स्कूल में एनरोलमेंट के विरुध्द 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों की वास्तविक जानकारी निकाल लें और यथाशीघ्र शत-प्रतिशत बच्चों का कोविड टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। कक्षा 8वी के बाद ड्रॉप आउट हुए बच्चों की जानकारी प्राप्त करें और कारणों का भी पता करें। जिन स्कूलों का हाफ इयरली रिजल्ट खराब रहा है, उनकी परफॉर्मेंस सूची तैयार कर जांच व पूछताछ करें कि किन कारणों से रिजल्ट खराब रहा हैं। सभी शिक्षकों और कर्मचारियों की ई-सर्विस बुक आगामी 3-4 दिवसों में अनिवार्य रुप से अपडेट हो जाए। स्कॉलरशिप के लिए बच्चों के पंजीयन का कार्य अगले सप्ताह तक पूर्ण करायें, अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार रहें। पेंशन, एन.पी.एस.,जी.पी.एफ./डी.पी.एफ. के लंबित प्रकरण यथाशीघ्र निराकृत कर लिए जाये। एमपी टास में पंजीकृत किए जाने वाले कक्षा 11वी व 12वीं के लक्षित विद्यार्थियों और उसके विरुध्द लक्ष्यपूर्ति की स्कूल वार विस्तृत जानकारी अगली बैठक में अनिवार्य रूप से रखें। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले के परिवेश के अनुरूप कार्ययोजना बनाकर यह सुनिश्चित करें कि शिक्षा से जुड़ी सभी योजनाओं का लाभ जिले के हर एक विद्यार्थी को मिल सके।

बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी श्री चौरागढ़े द्वारा जिले में स्किल हब के लिए चयनित विद्यालयों, 15 से 18 वर्ष वाले छात्रों के वैक्सीनेशन, हाफ ईयरली रिजल्ट, कर्मचारियों/शिक्षकों की ई-सर्विस बुक अपडेशन, स्कॉलरशिप के लिए एनरोलमेंट आदि की विकासखंडवार जानकारी से अवगत कराया गया। सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग श्री बरकड़े द्वारा लंबित पेंशन प्रकरणों, सामान्य व विभागीय भविष्य निधि के प्रकरणों, एमपी टास में एससी/एसटी वर्ग के विद्यार्थियों का पंजीयन, नवनियुक्त माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षकों द्वारा कार्यभार ग्रहण, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के अंतर्गत राहत राशि के वितरण आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की गई। डीपीसी श्री इरपाची द्वारा निष्ठा शिक्षक प्रशिक्षण, प्रतिभा पर्व 2022 की तैयारी, 100 दिवसीय रीडिंग कैंपेन कार्यक्रम, समग्र शिक्षा योजना के अंर्तगत बैंक खातों और पढ़ना लिखना अभियान एवं नवभारत साक्षरता कार्यक्रम संचालित करने के संबंध में जानकारी प्रस्तुत की गई।