जर्जर भवनों को चिन्हित कर सुरक्षा सावधानी सूचक बोर्ड लगाने भवन अधिकारी को निर्देश - Bhaskar Crime

Breaking

जर्जर भवनों को चिन्हित कर सुरक्षा सावधानी सूचक बोर्ड लगाने भवन अधिकारी को निर्देश

 भवन, अतिक्रमण, स्वास्थ्य विभाग प्रमुखों को कार्यो में पारदर्शिता लाने निर्देश निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ के द्वारा विभागीय कार्यो की समीक्षा* 


नागरिकों के समय पर नक्शा पास किए जाएं,जर्जर भवनों को चिन्हित कर सुरक्षा सावधानी सूचक बोर्ड लगाने भवन अधिकारी को निर्देश

जबलपुर// निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ के द्वारा विभागीय कार्यो की समीक्षा की गयी। उन्होंने भवन, अतिक्रमण, और स्वास्थ्य विभाग के कार्यो की जानकारी लेते हुए निर्देशित किया कि नागरिकों के कोई भी कार्य निर्धारित समय सीमा के अंदर किये जाएॅं। विशेषकर उन्होंने भवन अधिकारी को निर्देशित किया कि नक्शा पास करने की प्रक्रिया को समय सीमा में पूर्ण कराएॅं अन्यथा जिम्मेदारों के प्रति कठोर कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने भवन अधिकारी को यह भी निर्देशित किया कि वर्षाऋतु को ध्यान में रखते हुए शहर के सभी जर्जर भवनों को तत्काल चिन्हित कर भवनों के ऊपर सुरक्षा एवं सावधानी सूचक बोर्ड लगवाएॅं। निगमायुक्त ने वर्षाजल संरक्षण की दिशा में भी कार्रवाई करने तथा लोगों को प्रेरित करने हेतु कार्य करने के निर्देश दिये।  

निगमायुक्त द्वारा बैठक के दौरान अतिक्रमण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि शहर में बड़े पैमाने पर नाला नालियों की सफाई कराई जा रही है, अतिक्रमण विभाग के सभी अधिकारी एव ंदल प्रभारी, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से समन्वय बनाकर जल निकासी में अवरोध उत्पन्न करने वाले सभी अतिक्रमणों को हटाने की कार्रवाई प्रतिदिन करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नाला नालियों पर कोई भी अवैध निर्माण है, तो उसे तत्काल हटवाया जाकर जल निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित कराए

निगमायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी बैठक के दौरान निर्देशित किया कि नाला नालियों की सफाई के दौरान यह ध्यान रखें कि शिल्ट पूरी तरीके से निकले और उसे तत्काल उठवाकर प्रसंस्करण स्थल कठौंदा में डिस्पोजल कराएॅं। 

निगमायुक्त ने विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यो को पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी के साथ करें ताकि उसका लाभ आम नागरिकों को मिल सके। बैठक के दौरान अपर आयुक्त महेश कुुमार कोरी, भवन अधिकारी आर.पी. गुप्ता, स्वास्थ्य अधिकारी भूपेन्द्र सिंह, सहायक आयुक्त वेदप्रकाश, संभव अयाची, के अलावा सभी विभागीय प्रमुख, संभागीय अधिकारी एवं मुख्य स्वच्छता निरीक्षक आदि उपस्थित रहे।