- Bhaskar Crime

Breaking

 


हस्त एवं चित्रा नक्षत्र, कन्या राशि और शुभ योग एवं सौम्य योग में यह व्रत मनाया जाएगा

 महिलाओं का निर्जला तीज व्रत आज माता-पिता तो कल घर घर विराजेंगे पुत्र गणेश


पूजा के लिए सबसे शुभ समय शाम को 5 बजकर 20 मिनट से रात को 8 बजकर 59 मिनट तक है।


 *जबलपुर// हरतालिका तीज व्रत भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि मंगलवार को है। हस्त एवं चित्रा नक्षत्र, कन्या राशि और शुभ योग एवं सौम्य योग में यह व्रत मनाया जाएगा। व्रत में पूजन में भगवान शिव और माता पार्वती की विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। महिलाएं पति की लंबी आयु और सुख समृद्धि के लिए ये व्रत रखती हैं। वहीं कुंवारी कन्याएं मन चाहा वर पाने के लिए ये व्रत रखती हैं। पूजा के लिए सबसे शुभ समय शाम को 5 बजकर 20 मिनट से रात को 8 बजकर 59 मिनट तक है। जिस समय हरतालिका तीज की पूजा की जाएगी उस समय शुभ योग लगा रहेगा। 


 *कल गणेशोत्सव पर्व* 


दूसरे दिन याने 31अगस्त दिन बुधवार को घर-घर में भगवान गणेश की स्थापना की जाएगी। इस बार सुबह से रात तक गणेश स्थापना का मुहूर्त रहेगा। दस दिनी महोत्सव को लेकर हर तरफ उल्लास देखा जा रहा है। वहीं गणेश पंडालों में तैयारियां तेज हो गई हैं। कई पंडालों में पहले दिन ही प्रतिमाओं की स्थापना की जाएगी।

गणेश चतुर्थी के दिन गणेश भगवान के बाल रूप का पूजन किया जाता है। भगवान गणेश को विघ्नहर्ता कहा जाता है। हिंदू धर्म में यह मान्यता है कि भगवान श्री गणेश प्रथम पूज्यनीय हैं। गणेश चतुर्थी भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाई जाती है। मान्यता है कि इसी दिन मां पार्वती ने भगवान गणेश को जन्म दिया था। यह जन्म संसार में होने वाली संतान की तरह नहीं बल्कि देवियों की शक्ति के माध्यम से दिया गया। गणेश जी का जन्म दोपहर में हुआ था इसलिए गणेश चतुर्थी की पूजा हमेशा दोपहर के मुहूर्त में की जाती है।  


 *गणेश चतुर्थी को चंद्र दर्शन न करें :* 


ज्योतिषाचार्य डॉक्टर चंद्रशेखर शास्त्री ने बताया कि गणेश चतुर्थी के दिन चंद्रमा का दर्शन न करें। यदि आपने इस दिन चंद्रमा का दर्शन कर लिया तो आप पर कलंक या गलत आरोप लग सकता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, गणेश चतुर्थी को चंद्रमा दर्शन के कारण ही भगवान कृष्ण पर स्यमन्तक मणि चोरी करने का मिथ्या आरोप लगा था।


 *श्री गणेश स्थापना का शुभ मुहूर्त :* 


ज्योतिषाचार्य डॉक्टर चंद्रशेखर शास्त्री  ने बताया कि 31 अगस्त को चित्रा नक्षत्र कन्या एवं तुला राशि में गणेश स्थापना की जाएगी।


-सुबह 7 बजे से 9:08 तक सिंह लग्न एवं लाभ अमृत की चौघड़िया में।


- 9:54 से 11:23 तक तुला लग्न एवं शुभ की चौघड़िया में।


- 11: 23 से दोपहर 1 :40 बजे तक वृश्चिक लग्न में।


- दोपहर 3:45 सेशाम 5:32 बजे तक लाभ की चौघड़िया में।

- शाम 6 बजेसे रात 8:36 बजेतक शुभ अमृत की चौघड़िया में।