कार्यशाला में प्रतिभागियों को नवभारत साक्षरता कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा बताई - Bhaskar Crime

Breaking

कार्यशाला में प्रतिभागियों को नवभारत साक्षरता कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा बताई

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान डाइट में जिले के सभी विकास खंड शिक्षा अधिकारी,


साक्षरता कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा बताई सभी संकुल में बने अकादमी कार्य योजना: प्राचार्य डाइट

समस्त असाक्षरों का ऑनलाइन मोबाइल ऐप में पंजीयन कराकर 


 *जबलपुर//कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी. के निर्देशन में आज जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान डाइट में जिले के सभी विकास खंड शिक्षा अधिकारी, संकुल प्राचार्य, बीआरसी, विकासखंड सह समन्वयक तथा संकुल समन्वयकों की उपस्थिति में कार्यशाला आयोजित की गई। 

कार्यशाला का शुभारंभ उप प्राचार्य डाइट डॉ. गजेश खरे ने किया। कार्यशाला में प्रतिभागियों को नव भारत साक्षरता कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा बताई तथा शासन के निर्देशानुसार जिले के सभी ग्रामीण और शहरी व बसाहटों में संचालित समस्त शासकीय प्राथमिक, माध्यमिक, हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी के प्राचार्य एवं शाला प्रभारी क्षेत्र के समस्त असाक्षरों का ऑनलाइन मोबाइल ऐप में पंजीयन कराकर इस आशय का प्रमाण पत्र निर्धारित प्रारूप में पार्षद, सरपंच, सचिव के हस्ताक्षर से जमा करने के निर्देश दिये। इसी तरह विकासखंड स्तर से मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, मुख्य नगरपालिका अधिकारी, विकासखंड शिक्षा अधिकारी तथा बीआरसी के हस्ताक्षर से प्रमाण पत्र 26 सितंबर तक जिले में जमा करेंगे। जिला सह समन्वयक श्री प्रकाश चंदेल ने सभी को मोबाइल ऐप के संचालन लिटरेसी पोर्टल में प्रगति रिपोर्ट देखने तथा कार्यक्रम क्रियान्वयन की जानकारी दी।


     जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान डाइट की प्राचार्य श्रीमती शशिबाला झा ने जिले की अकादमी गुणवत्ता की विस्तृत योजना सभी के समक्ष रखी एवं नेशनल अचीवमेंट सर्वे, स्टेट अचीवमेंट सर्वे तथा कक्षा पांचवी आठवीं वार्षिक मूल्यांकन का आइटम एनालिसिस का तुलनात्मक अध्ययन प्रस्तुत करते हुए कक्षावार कठिन लर्निंग आउट कम्स (सीखने के अधिगम) की जानकारी दी । उन्होंने सभी संकुल प्राचार्यों से संकुल की कार्य योजना बनाने के लिए निर्देशित किया । एपीसी श्री डीके श्रीवास्तव ने सभी से समय पर प्रोफाइल अपडेशन तथा डीपीसी डॉक्टर आरपी चतुर्वेदी ने प्राथमिक व माध्यमिक शाला की नियमित मॉनिटरिंग की बात कही। कार्यशाला में जिला प्रौढ़ शिक्षा अधिकारी श्री योगेश शर्मा भी उपस्थित थे।