हुक्का बार पर 3 साल तक की सजा और एक लाख रुपये जुर्माने - Bhaskar Crime

Breaking

हुक्का बार पर 3 साल तक की सजा और एक लाख रुपये जुर्माने

 मध्य प्रदेश में हुक्का बार पर प्रहार, 3 साल तक की सजा और एक लाख रुपये जुर्माने का प्रस्ताव


भोपाल। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सीएम शिवराज सिंह चौहान के निर्देश के बाद प्रदेश में हुक्का बार बंद करने का अभियान चलाया गया था। इस कार्रवाई को और कठोर करने के लिए इसमें एक साल से तीन साल तक की सजा और जुर्माने की राशि बढ़ाकर एक लाख रुपये करने का प्रस्ताव गृह विभाग ने विधि विभाग को भेजा है। हुक्का बार पर प्रतिबंध लगाने के लिए गृह विभाग द्वारा मसौदा तैयार कर विधि विभाग को भेजकर मंजूरी दी गई है। मध्य प्रदेश में हुक्का बार को प्रतिबंधित करने हेतु सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद (विज्ञापन का प्रतिषेध और व्यापार तथा वाणिज्य, उत्पादन, प्रदाय और वितरण का विनियमन) अधिनियम 2003 में आवश्यक संशोधन किया जा रहा है। अब जुर्माना और सजा दोनों ही बढ़ाई जा रही है।

वैशाली ठक्कर मामले में दो लोगों के खिलाफ केस

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एक्ट्रेस वैशाली ठक्कर आत्महत्या मामले में दो लोगों पर 306 के तहत केस दर्ज होने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दोनों ही वैशाली के पड़ोसी हैं। पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर रही है।

मध्य प्रदेश में विकास कार्यों की लगी झड़ी

गृहमंत्री ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व ने जिस तरह मध्य प्रदेश में विकास कार्यों की झड़ी लगा दी है, वो इस बात का संकेत है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह विकास और जनता की सेवा को ही प्राथमिकता देते हैं और कार्यकर्ताओं को भी इस दिशा में जुटना चाहिए।

कमल नाथ ने लोकतंत्र के चुनाव में नहीं डाला वोट


गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व चुनाव में वोट नहीं डालने वाले कमल नाथ को संविधान में नहीं लेकिन पार्टी संगठन में विश्वास है। कमल नाथ ऐसे चुनाव में वोट डालने गए हैं जिसका परिणाम पहले से सभी को पता है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव में वोटिंग सिर्फ औपचारिकता है। मध्य प्रदेश में कोरोना की स्थिति की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 07 नए केस आए हैं, वहीं 10 मरीज ठीक हुए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव केस 109 हैं, वहीं संक्रमण दर 0.19% और रिकवरी रेट 98.70% है