सूर्यग्रहण खत्म होने के बाद ग्वारीघाट नर्बदा तट में लोगों ने स्नान किया - Bhaskar Crime

Breaking

सूर्यग्रहण खत्म होने के बाद ग्वारीघाट नर्बदा तट में लोगों ने स्नान किया

 सूर्यग्रहण खत्म होने के बाद ग्वारीघाट नर्बदा तट में लोगों ने स्नान किया और मां नमदा जी पूजा अर्चना किया 


कहीं पूर्ण सूर्य ग्रहण और कहीं आंशिक सूर्य ग्रहण लगने की क्या वजह है ग्रहण मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं


आस्था के साथ नर्मदा में लोगों ने लगाई डुबकी और दान का ग्रहण मांगने वालों को दान दिया 

जबलपुर//सूर्य ग्रहण के बाद ग्वारीघाट नर्मदा घाट पर आस्था के डुबकी लगाई शाम होते ही नर्मदा घाटौ पर लोगों ने स्नान किया 6:00 बजे के बाद  सडको पर मौटर वाहन से जाम स्थिति हो गई जिससे पुलिस प्रशासन द्वारा जाम के समय लोगों को लाइन लगाकर घाटो की ओर भेजा नर्मदा की घाट में स्नान के बाद गरीब परिवारो को दान दिया घाट गहन का दान मांगने वालों की भीड़ लगी रही 


*ग्रहण मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं*

*1*आंशिक सूर्य ग्रहण//जब चंद्रमा की परछाई सूर्य के पूरे भाग को ढंकने की बजाय किसी एक हिस्से को ही ढंके तब आंशिक सूर्य ग्रहण होता है। इस दौरान सूर्य के केवल एक छोटे हिस्से पर अंधेरा छा जाता है।

 *2.*वलयाकार सूर्य ग्रहणवलयाकार सूर्य ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा पृथ्वी से दूर होता है तथा इसका आकार छोटा दिखाई देता है। इस दौरान चंद्रमा, सूर्य को पूरी तरह से ढंक नहीं पाता है, और उसका केवल कुछ हिस्सा दिखाई देता है।

3.*पूर्ण सूर्य ग्रहण// पूर्ण सूर्य ग्रहण तब होता है जब पृथ्वी, सूर्य तथा चंद्रमा एक सीधी रेखा में होते हैं, इसके कारण पृथ्वी के एक भाग पर पूरी तरह से अंधेरा छा जाता है। यह स्थिति तब बनती है जब चंद्रमा, पृथ्वी के निकट होता है।